NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 8

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 8 – ऐसे ऐसे (Aise Aise) – विष्णु प्रभाकर

एकांकी से

1. ‘सड़क के किनारे एक सुंदर फ्लैट में बैठक का दृश्य। उसका एक दरवाज़ा सड़क वाले बरामदे में खुलता है ……….. उस पर एक फ़ोन रखा है।’ इस बैठक की पूरी तस्वीर बनाओ।

उत्तर:- छात्र दिए गए विवरण के आधार पर अपनी पुस्तिका में चित्र बनाएं।

2. मां मोहन के ‘ऐसे-ऐसे’ कहने पर क्यों घबरा रही थी?

उत्तर:- मां मोहन के ‘ऐसे-ऐसे’ कहने पर इसलिए घबरा रही थी क्योंकि मोहन के बताए अनुसार ‘ऐसे-ऐसे’ होने वाली तो कोई बीमारी नहीं थी। मोहन की हालत देखकर उन्हें लगा कि यह कोई भयंकर नई बीमारी है और इसलिए मोहन की मां बेहद घबरा गई।

3. ऐसे कौन कौन से बहाने होते हैं जिन्हें मास्टर जी एक ही बार में सुनकर समझ जाते हैं? ऐसे कुछ बहानों के बारे में लिखो।

उत्तर:- निम्नलिखित कुछ ऐसे बहाने हैं, जिन्हें मास्टर जी एक ही बार में सुनकर समझ जाते हैं-

  • गृहकार्य पूरा हो जाने पर पुस्तिका का घर छूट जाना।
  • पेटदर्द, सिरदर्द, आदि बीमारी की वजह से गृह कार्य न कर पाना।
  • शादी विवाह या अन्य समारोह में जाने की वजह से गृहकार्य न कर पाना।
  • बस छूट जाने की वजह से लेट हो जाना।
  • माताजी या पिताजी का बीमार हो जाना, आदि।




NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 8 – अनुमान और कल्पना

1. स्कूल के काम से बचने के लिए मोहन ने कई बार पेट में ‘ऐसे-ऐसे’ होने के बहाने बनाए। मान लो, एक बार उसे सचमुच पेट में दर्द हो गया और उसकी बातों पर लोगों ने विश्वास नहीं किया, तब मोहन पर क्या बीती होगी?

उत्तर:- स्कूल के काम से बचने के लिए मोहन ने कई बार पेट में ‘ऐसे-ऐसे’ होने के बहाने बनाए। अगर कभी उसे सचमुच पेट में दर्द हो जाए और उसकी बातों पर लोग विश्वास न करे, तब मोहन को बहुत परेशानी उठानी पड़ सकती है। उसके बार-बार कहने पर भी सबको यही लगेगा कि वह बहाने बना रहा है। ऐसी स्थिति में मोहन को बहुत दर्द सहना पड़ेगा और उसे अपनी गलती का एहसास होगा। उसे अपने द्वारा बोले गए झूठ पर पछतावा होगा। लेकिन ऐसी स्थिति से गुजरने के बाद उसकी झूठ बोलने की बुरी आदत सुधर जाएगी।

2. पाठ में आए वाक्य- ‘लोचा-लोचा फिरे है’ के बदले ‘ढीला-ढाला हो गया है या बहुत कमज़ोर हो गया है’ लिखा जा सकता है। लेकिन, लेखक ने संवाद में विशेषता लाने के लिए बोलियों के रंग-ढंग का उपयोग किया है। इस पाठ में इस तरह की अन्य पंक्तियां भी है, जैसे-

  • इत्ती नई-नई बीमारियां निकली हैं,
  • राम मारी बीमारियों ने तंग कर दिया,
  • तेरे पेट में तो बहुत बड़ी दाढ़ी है।

अनुमान लगाओ इन पंक्तियों को दूसरे ढंग से कैसे लिखा जा सकता है?

उत्तर:-

  • इतनी नई-नई बीमारियां निकल आई है।
  • बहन, बीमारियों ने तो परेशान कर दिया है।
  • तू तो बहुत चालाक है।

3. मान लो कि तुम मोहन की तबीयत पूछने जाते हो। तुम अपने और मोहन के बीच की बातचीत को संवाद के रूप में लिखो।

उत्तर:-

मैं : हेलो मोहन! कैसे हो? क्या हुआ तुम्हें?

मोहन : हेलो नितेश! कुछ नहीं यार, बस पेट में ऐसे-ऐसे हो रहा है।

मैं : ऐसे-ऐसे?

मोहन : हां, ऐसे-ऐसे।

मैं : डॉक्टर को दिखाया तुमने?

मोहन : हां, दिखा दिया।

मैं : तो, क्या कहा डॉक्टर ने?

मोहन : उन्होंने कहा कि बदहजमी और कब्ज की वज़ह से गैस हो गई है। उसी के वजह से ऐसे-ऐसे हो रहा है।

मैं : अच्छा, तो तुम दवाई लो, आराम करो और अपना ध्यान रखो।

मोहन : हां।

मैं : तुम्हारी हालत देखकर तो लग रहा है कि कल तुम स्कूल नहीं आ पाओगे। चलो कोई बात नहीं, मैं मास्टरजी से कह दूंगा कि तुम्हारी तबीयत खराब है।

मोहन : हां, ठीक है। तुम उनसे कह देना।

मैं : चलो, अब मैं चलता हूं। तुम भी जल्दी से ठीक हो जाओ।

मोहन : अच्छा भाई! धन्यवाद।




4. संकट के समय के लिए कौन-कौन से नंबर याद रखे जाने चाहिए? ऐसे वक्त में पुलिस, फ़ायर ब्रिगेड और डॉक्टर से तुम कैसे बात करोगे? कक्षा में करके बताओ।

उत्तर:- संकट के समय के लिए हमें निम्नलिखित नंबर याद रखने चाहिए-

  • 100 (पुलिस)
  • 101 (फायर ब्रिगेड)
  • 102 (एंबुलेंस)

हम सबसे विनम्रता पूर्वक बात करेंगे। उन्हें हमारी समस्या बताएंगे, अपने घर का पता देंगे और जल्द-से-जल्द आने को कहेंगे।

पुलिस को हम घटना की पूरी जानकारी देंगे, फ़ायर ब्रिगेड को हम जहां आग लगी है उस जगह की पूरी जानकारी देंगे और डॉक्टर को मरीज की हालत की पूर्ण जानकारी देंगे।

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 8 – ऐसा होता तो क्या होता….

मास्टर: …… स्कूल का काम तो पूरा कर लिया है?

(मोहन हां में सिर हिलाता है।)

मोहन: जी, सब काम पूरा कर लिया है।

  • इस स्थिति में नाटक का अंत क्या होता लिखो।

उत्तर:- इस स्थिति में मास्टरजी का अंदेशा गलत साबित हो जाता और उन्हें अहसास हो जाता कि सचमुच मोहन की तबीयत ख़राब है। ऐसे में वे मोहन को सही समय पर दवा लेने की हिदायत देते, आराम करने व अपना ध्यान रखने को कहते और दुसरे दिन हालचाल पूछने फिर आने का कहकर चले जाते।

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 8 – भाषा की बात

  • (क). मोहन ने केला और संतरा खाया।
    (ख). मोहन ने केला और संतरा नहीं खाया।
    (ग). मोहन ने क्या खाया?
    (घ). मोहन केला और संतरा खाओ।

उपर्युक्त वाक्यों में से पहला वाक्य एकांकी से लिया गया है। बाकी तीन वाक्य देखने में पहले वाक्य से मिलते-जुलते हैं, पर उनके अर्थ अलग-अलग हैं। पहला वाक्य किसी कार्य या बात के होने के बारे में बताता है, इसे विधिवाचक वाक्य कहते हैं। दूसरे वाक्य का संबंध उस कार्य के न होने से है, इसलिए इसे निषेधवाचक वाक्य कहते हैं। (निषेध का अर्थ नहीं या मनाही होता है।) तीसरे वाक्य में इसी बात को प्रश्न के रूप में पूछा जा रहा है, ऐसे वाक्य प्रश्नवाचक कहलाते हैं। चौथे वाक्य में मोहन से उसी कार्य को करने के लिए कहा जा रहा है, इसे आदेशवाचक वाक्य कहते हैं। आगे एक वाक्य दिया गया है। इसके बाकी तीन रूप तुम सोचकर लिखो-

बताना – रुथ ने कपड़े अलमारी में रखे।

उत्तर:-

नहीं/मना करना – रुथ ने कपड़े अलमारी में नहीं रखे।

पूछना – क्या रुथ ने कपड़े अलमारी में रखे?

आदेश देना – रुथ कपड़े अलमारी में रखो।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

Leave a Comment