NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 12

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 12 – संसार पुस्तक है (Sansar Pustak Hai) – जवाहरलाल नेहरू

पत्र से

1. लेखक ने ‘प्रकृति के अक्षर’ किन्हें कहा है?

उत्तर:- लेखक ने पहाड़, समुद्र, सितारें, नदियां, जंगल, जानवरों की पुरानी हड्डियां, आदि चीजों को प्रकृति के अक्षर कहा है; क्योंकि इन चीज़ों से संसार-रूपी पुस्तक को पढ़ा जा सकता है और दुनिया का पुराना हाल पता लगाया जा सकता है।

2. लाखों-करोड़ों वर्ष पहले हमारी धरती कैसी थी?

उत्तर:- लाखों-करोड़ों वर्ष पूर्व धरती बेहद गरम थी और सूरज के असहनीय ताप के कारण धरती पर कोई भी जानदार चीज़ मौजूद नहीं थी।

3. दुनिया का पुराना हाल किन चीज़ों से जाना जाता है? कुछ चीजों के नाम लिखो।

उत्तर:- पहाड़, समुद्र, सितारें, नदियां, जंगल, जानवरों की पुरानी हड्डियां और इसी तरीके की अन्य चीज़ों के अध्ययन और विश्लेषण से दुनिया का पुराना हाल जाना जा सकता है।

4. गोल, चमकीला रोड़ा अपनी क्या कहानी बताता है?

उत्तर:- गोल, चमकीला रोड़ा अपनी कहानी बताता है कि बहुत समय पहले वह एक चट्टान का नुकीला और खुरदरा टुकड़ा था, जो पहाड़ के दामन में आ गिरा और पानी में बह आया। वहां से पहाड़ी नाले ने उसे धकेलकर एक छोटे-से दरिया में पहुंचा दिया। छोटे दरिया से वह बड़े दरिया में पहुंचा। इस बीच वह दरिया के पेंदे में लुढ़कता रहा, उसके किनारे घिस गए और वह चिकना व चमकदार हो गया। इस तरह वह गोल, चमकीले कंकड़ में परिवर्तित हो गया।




5. गोल, चमकीले रोड़े को यदि दरिया और आगे ले जाता तो क्या होता? विस्तार से उत्तर लिखो।

उत्तर:- गोल, चमकीले रोड़े को यदि दरिया और आगे ले जाता तो वह दरिया के पेंदे में लुढ़कता हुआ व घिसता हुआ, छोटा होते-होते अंत में बालू का एक कण बन जाता और समुद्र के किनारे रेत के अन्य कणों में मिल जाता। जहां वह एक सुंदर बालू का किनारा बन जाता, जिस पर छोटे-छोटे बच्चे खेलते और बालू के घरौंदे बनाते।

6. नेहरु जी ने इस बात का हल्का-सा संकेत किया है कि दुनिया कैसे शुरू हुई होगी। उन्होंने क्या बताया है? पाठ के आधार पर लिखो।

उत्तर:- प्रस्तुत पाठ में नेहरू जी ने इस बात का हल्का-सा संकेत दिया है कि दुनिया कैसे शुरू हुई होगी। उन्होंने बताया है कि लाखों-करोड़ों वर्ष पूर्व यह धरती बेहद गरम थी और इस पर कोई जानदार चीज नहीं रह सकती थी। धीरे-धीरे धरती ठंडी होती गई और इस पर पेड़-पौधे व वनस्पतियां होने लगी। इसके बाद धरती पर जानवर पैदा हुए और अंत में मनुष्य इस धरती पर आया। इस प्रकार दुनिया की शुरुआत हुई।

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 12 – पत्र से आगे

1. लगभग हर जगह दुनिया की शुरुआत को समझाती हुई कहानियां प्रचलित हैं। तुम्हारे यहां कौन-सी कहानी प्रचलित है?

उत्तर:- हमारे यहां की प्रचलित कहानी के अनुसार यह धरती और चंद्रमा, दोनों ही पहले सूर्य का हिस्सा थे। अंतरिक्ष में आई हलचल के कारण ये दोनों सूर्य से टूटकर अलग हो गए। सूर्य में मौज़ूद सभी अच्छे तत्व धरती पर आ गए और विषैले तत्व चंद्रमा पर चले गए। फिर धीरे-धीरे धरती और चंद्रमा ठंडे हुए। धरती पर मौजूद अच्छे तत्वों के कारण यहां पेड़-पौधे, वनस्पतियां और जानवर पैदा हुए। इसके बाद मनुष्य इस धरती पर आए। वहीं चंद्रमा पर मौजूद विषैले तत्वों के कारण वहां कोई भी जानदार चीज पैदा नहीं हो पाई।

2. तुम्हारी पसंदीदा किताब कौन सी है और क्यों?

उत्तर:- छात्र अपनी पसंदीदा किताब का वर्णन करें।

3. मसूरी और इलाहाबाद भारत के किन प्रांतों के शहर है?

उत्तर:- मसूरी उत्तराखंड प्रांत और इलाहाबाद उत्तर प्रदेश प्रांत का शहर है।

4. तुम जानते हो कि दो पत्थरों को रगड़कर आदि मानव ने आग की खोज की थी। उस युग में पत्थरों का और क्या-क्या उपयोग होता था?

उत्तर:- आदि मानव के युग में पत्थरों का निम्नलिखित उपयोग होता था-

  • शिकार के लिए हथियार बनाने में,
  • विभिन्न प्रकार के औजार बनाने में,
  • अपनी गुफ़ा के दरवाज़े पर लगाने के लिए,
  • जानवरों की खाल उतारकर चमड़ा बनाने के लिए,
  • पहियों के रूप में, आदि।

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 12 – भाषा की बात

1. ‘इस बीच वह दरिया में लुढ़कता रहा।’ नीचे लिखी क्रियाएं पढ़ो। क्या इनमें और ‘लुढ़कना’ में तुम्हें कोई समानता नजर आती है?

(ढकेलना, गिरना, खिसकना)

उत्तर:-

लुढ़कना – बच्चा पलंग से नीचे लुढ़क गया।
धकेलना – राम ने शाम को सीढ़ियों से नीचे धकेल दिया।
गिरना – मेरे हाथ से गिलास छुटकर नीचे गिर गया।
खिसकना – तुम थोड़ा उधर खिसककर बैठ जाओ।




2. चमकीला रोड़ा- यहां रेखांकित विशेषण ‘चमक’ संज्ञा में ‘ईला’ प्रत्यय जोड़ने पर बना है। निम्नलिखित शब्दों में यही प्रत्यय जोड़कर विशेषण बनाओ और इनके साथ उपयुक्त संज्ञाएं लिखो-

(पत्थर, कांटा, रस, जहर)

उत्तर:-

पत्थर + ईला = पथरीला
कांटा + ईला = कंटीला
रस + ईला = रसीला
जहर + ईला = जहरीला

3. ‘जब तुम मेरे साथ रहती हो, तो अक्सर मुझसे बहुत-सी बातें पूछा करती हो।’

यह वाक्य दो वाक्यों को मिलाकर बना है। इन दोनों वाक्यों को जोड़ने का काम जब-तो (तब) कर रहे हैं, इसलिए इन्हें योजक कहते हैं। योजक के रूप में कभी कोई बदलाव नहीं आता, इसलिए यह अव्यय का एक प्रकार होते हैं। नीचे वाक्यों को जोड़ने वाले कुछ और आगे दिए गए हैं। उन्हें रिक्त स्थानों में लिखो। इन शब्दों से तुम भी एक-एक वाक्य बनाओ-

(बल्कि/ इसलिए/ परंतु/ कि/ यदि/ तो/ नकि/ या/ ताकि)

(क). कृष्णन फिल्म देखना चाहता है ………. मैं मेले में जाना चाहती हूं।
(ख). मुनिया ने सपना देखा ……… वह चंद्रमा पर बैठी है।
(ग). छुट्टियों में हम सब ………. दुर्गापुर जाएंगे ……… जालंधर।
(घ). सब्ज़ी कटवा कर रखना …….. घर आते ही मैं खाना बना लूं।
(ड़). ……… मुझे पता होता कि शमीना बुरा मान जाएगी ………. मैं यह बात न कहती।
(च). इस वर्ष फ़सल अच्छी नहीं हुई है ……… अनाज महंगा है।
(छ). विमल जर्मन सीख रहा है ……… फ्रेंच।

उत्तर:-

(क). कृष्णन फिल्म देखना चाहता है परंतु मैं मेले में जाना चाहती हूं।
(ख). मुनिया ने सपना देखा कि वह चंद्रमा पर बैठी है।
(ग). छुट्टियों में हम सब या तो दुर्गापुर जाएंगे या जालंधर।
(घ). सब्ज़ी कटवा कर रखना ताकि घर आते ही मैं खाना बना लूं।
(ड़). यदि मुझे पता होता कि शमीना बुरा मान जाएगी तो मैं यह बात न कहती।
(च). इस वर्ष फ़सल अच्छी नहीं हुई है इसलिए अनाज महंगा है।
(छ). विमल जर्मन सीख रहा है नकि फ्रेंच।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

Leave a Comment