NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 1

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 1 – वह चिड़िया जो (Vah Chidiya Jo) – केदारनाथ अग्रवाल (Kedarnath Agarwal)

कविता से

1. कविता पढ़कर तुम्हारे मन में चिड़िया का जो चित्र उभरता है, उस चित्र को कागज पर बनाओ।

उत्तर:- अपनी कल्पना के अनुसार चिड़िया का चित्र बनाएं।

2. तुम्हें कविता का कोई और शीर्षक देना हो तो क्या शीर्षक देना चाहोगे? उपयुक्त शीर्षक सोचकर लिखो।

उत्तर:- मैं इस कविता को ‘नन्ही चिड़िया’ शीर्षक देना चाहती हूं।

3. इस कविता के आधार पर बताओ कि चिड़िया को किन-किन चीज़ों से प्यार है?

उत्तर:- चिड़िया को दूध-भरे अनाज के दानों, मधुर गीत गाने और नदी से प्यार है। उसे संतोषपूर्वक मिठास-भरे अनाज के दाने चुगना पसंद है, उसे वन में बे-रोकटोक मधुर गीत गाना और चोंच मारकर नदी से जल का मोती लाना अच्छा लगता है।

4. आशय स्पष्ट करो-

(क). रस उंड़ेलकर गा लेती है

(ख). चढ़ी नदी का दिल टटोलकर

जल का मोती ले जाती है




उत्तर:-

(क). प्रस्तुत पंक्तियों में कवि ने बताया है कि नन्ही चिड़िया को गीत गाना पसंद है और जंगल के एकांत में भी वह हर्षोल्लास और उमंग के साथ अपने गीतों से वातावरण में रस घोल देती है। उन्मुक्त होकर बेरोकटोक जंगल को अपना मधुर गीत सुनाती है।

(ख). प्रस्तुत पंक्तियों में कवि ने चिड़िया की प्रवीणता को दर्शाया है। चिड़िया अपनी प्यास बुझाने के लिए उफनती हुई नदी में चोंच मारकर जल का मोती ले आती है।

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 1 – अनुमान और कल्पना

1. कवि ने नीली चिड़िया का नाम नहीं बताया है। वह कौन सी चिड़िया रही होगी? इस प्रश्न का उत्तर जानने के लिए पक्षी-विज्ञानी सालिम अली की पुस्तक ‘भारतीय पक्षी’ देखो। इनमें ऐसे पक्षी भी शामिल है जो जाड़े में एशिया के उत्तरी भाग और अन्य ठंडे प्रदेशों से भारत आते हैं। उनकी पुस्तक को देखकर तुम अनुमान लगा सकते हो कि इस कविता में वर्णित नीली चिड़िया शायद इनमें से कोई एक रही होगी-

नीलकंठ
छोटा किलकिला
कबूतर
बड़ा पतरिंगा

उत्तर:- छात्र उपरोक्त पुस्तक को पढ़कर दिए गए पक्षियों के बारे में जानकारी प्राप्त करें।

2. नीचे कुछ पक्षियों के नाम दिए गए हैं। उनमें यदि कोई पक्षी एक से अधिक रंग का है तो लिखो कि उसके किस हिस्से का रंग कैसा है। जैसे तोते की चोच लाल है, शरीर हरा है।

मैना, कौवा, बतख, कबूतर

उत्तर:-

  • मैना : मैना के पंख भूरे रंग के होते हैं और उसका बाकी शरीर काले या हल्के काले रंग का होता है।
  • कौवा : कौवे का पूरा शरीर काले रंग का होता है। इसकी गर्दन कहीं-कहीं थोड़ी हल्के काले या गहरे भूरे रंग की होती है।
  • बतख : बत्तख का सर नीले, गर्दन हरे और चोंच पीले रंग की होती है। इसका बाकी शरीर सफेद व भूरे पंखों से ढका होता है।
  • कबूतर : कबूतर की गर्दन गहरे नीले व बैंगनी रंग की होती है। उसके पंख सलेटी रंग के होते हैं, जिन पर दो काले रंग की पट्टियां होती है। उसकी चोंच गहरे नीले रंग की होती है, जिस पर सफेद रंग की एक पट्टी होती है।




3. कवि का हर बंध ‘वह चिड़िया जो-‘ से शुरू होता है और ‘मुझे बहुत प्यार है’ पर खत्म होता है। तुम भी इन पंक्तियों का प्रयोग करते हुए अपनी कल्पना से कविता में कुछ नए बंध जोड़ो।

उत्तर:-

वह चिड़िया जो
खुले आकाश में पंख पसारे
उड़ती जाती है बिना रुके।
न चिंता न डर है मन में,
आजादी की खुशी है मन में।
स्वर्ण पिंजरे से कई भला है
तिनको वाला मेरा घोसला
नीले पंखों वाली मैं हूं
मुझे आजादी से बहुत प्यार है।

4. तुम भी ऐसी कल्पना कर सकते हो कि ‘वह फूल का पौधा जो- पीली पंखुड़ियों वाला- महक रहा है- मैं हूं।’ उसकी विशेषताएं मुझ में हैं…..। फूल के बदले में कोई दूसरी चीज भी हो सकती है जिसके विशेषताओं को गिनाते हुए तुम उसी चीज से अपनी समानता बता सकते हो…. ऐसी कल्पना के आधार पर कुछ पंक्तियां लिखो।

उत्तर:-

वह घना आम का पेड़ जो-
रसीले मीठे आमों वाला
झूम रहा है मस्ती में मैं हूं।
वह घना आम का पेड़ जो-
कड़ी जेठ की दोपहरी में
देता सबको ठंडी छाया
मीठे-मीठे आमों से करता
अपने मेहमानों की सेवा-पानी
वह दयालु आम का पेड़ मैं हूं,
मुझे सभी से बहुत प्यार है।

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 1 – भाषा की बात

1. पंखोंवाली चिड़िया ऊपरवाली दराज़
नीले पंखोंवाली चिड़िया      सबसे ऊपरवाली दराज़

यहां रेखांकित शब्द विशेषण का काम कर रहे हैं। ये शब्द चिड़िया और दराज़ संज्ञाओं की विशेषता बता रहे हैं, अतः रेखांकित शब्द विशेषण हैं और चिड़िया, दराज़ विशेष्य है। यहां ‘वाला/वाली’ जोड़कर बनने वाले कुछ और विशेषण दिए गए हैं। ऊपर दिए गए उदाहरणों की तरह इनके आगे एक-एक विशेषण और जोड़ो-

  • ………. मोरोंवाला बाग
  • ………. पेड़ोंवाला घर
  • ………. फूलोंवाली क्यारी
  • ………. स्कूलवाला रास्ता
  • ………. हंसनेवाला बच्चा
  • ………. मूछोंवाला आदमी




उत्तर:-

  • मशहूर मोरोंवाला बाग
  • घने पेड़ोंवाला घर
  • रंग-बिरंगे फूलोंवाली क्यारी
  • हमारी स्कूलवाला रास्ता
  • बहुत अधिक हंसनेवाला बच्चा
  • लंबी-लंबी मूछोंवाला आदमी

2. वह चिड़िया ……… जुंडी के दाने रुचि से ……… खा लेती है।
वह चिड़िया ……… रस उड़ेलकर गा लेती है।

  • कविता की इन पंक्तियों में मोटे छापे वाले शब्दों को ध्यान से पढ़ो। पहले वाक्य में ‘रुचि से’ खाने के ढंग की और दूसरे वाक्य में ‘रस उड़ेलकर’ गाने के ढंग की विशेषता बता रहे हैं। अतः यह दोनों क्रियाविशेषण है। नीचे दिए वाक्यों में कार्य के ढंग या रीति से संबंधित क्रियाविशेषण छांटो-

(क). सोनाली जल्दी-जल्दी मुंह में लड्डू ठूंसने लगी।
(ख). गेंद लुढ़कती हुई झाड़ियों में चली गई।
(ग). भूकंप के बाद जनजीवन धीरे-धीरे सामान्य होने लगा।
(घ). कोई सफ़ेद-सी चीज़ धप्प-से आंगन में गिरी।
(ड़). टॉमी फुर्ती से चोर पर झपटा।
(च). तेजिंदर सहमकर कोने में बैठ गया।
(छ). आज अचानक ठंड बढ़ गई है।

उत्तर:-

(क). सोनाली जल्दी-जल्दी मुंह में लड्डू ठूंसने लगी।
(ख). गेंद लुढ़कती हुई झाड़ियों में चली गई।
(ग). भूकंप के बाद जनजीवन धीरे-धीरे सामान्य होने लगा।
(घ). कोई सफ़ेद-सी चीज़ धप्प-से आंगन में गिरी।
(ड़). टॉमी फुर्ती से चोर पर झपटा।
(च). तेजिंदर सहमकर कोने में बैठ गया।
(छ). आज अचानक ठंड बढ़ गई है।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

Leave a Comment