NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 6

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 6 – पार नज़र के (Paar Nazar Ke) – जयंत विष्णु नार्लीकर

कहानी से

1. छोटू का परिवार कहां रहता था?

उत्तर:- छोटू का परिवार मंगल ग्रह पर रहते थे जहां उनकी पूरी कालोनी ज़मीन के नीचे बसी थी।

2. छोटू को सुरंग में जाने की इजाज़त क्यों नहीं थी? पाठ के आधार पर लिखो।

उत्तर:- छोटू वह अन्य किसी भी व्यक्ति को सुरंग में जाने की इजाज़त नहीं थी क्योंकि वह सुरंग ज़मीन के ऊपर जाने का रास्ता थी, आम आदमी के लिए इस रास्ते से जाने की मनाही थी। सिर्फ कुछ चुनिंदा लोग ही इस सुरंगनुमा रास्ते का इस्तेमाल कर सकते थे।

3. कंट्रोल रूम में जाकर छोटू ने क्या देखा और वहां उसने क्या हरकत की?

उत्तर:- कंट्रोल रूम में जाकर छोटू ने देखा कि वहां मौजूद सभी लोग एक स्क्रीन के माध्यम से बाहर से आए अंतरिक्ष यान पर नजर रख रहे हैं। वहां उसने एक कॉन्सोल देखा, जिसपर कई बटन थे। जब सभी लोग अंतरिक्ष यान की हरकत को ध्यान से देख रहे थे, तब छोटू ने कॉन्सोल का एक लाल बटन दबा दिया, जिससे खतरे की घंटी बज उठी और अंतरिक्ष यान के यांत्रिक हाथ की हरकत रुक गई।

4. इस कहानी के अनुसार मंगल ग्रह पर कभी आम जनजीवन था। वह सब नष्ट कैसे हो गया? इसे लिखो।

उत्तर:- प्रस्तुत कहानी के अनुसार बहुत समय पहले मंगल ग्रह पर भी आम जनजीवन था, सभी लोग धरती के ऊपर रहते थे लेकिन धीरे-धीरे वहां के वातावरण में परिवर्तन आने लगा, सूरज में परिवर्तन हुआ और प्राकृतिक संतुलन बिगड़ गया। इससे धीरे-धीरे वहां का जनजीवन नष्ट होता गया और एक के बाद एक वहां रहने वाले सभी जीव मरने लगे।




5. कहानी में अंतरिक्ष यान को किसने भेजा था और क्यों?

उत्तर:- कहानी में अंतरिक्ष यान को पृथ्वी से नेशनल एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (नासा) ने मंगल ग्रह की मिट्टी के विभिन्न नमूने इकट्ठा करने के लिए भेजा था, ताकि मंगल की मिट्टी का अध्ययन किया जा सके और वहां की जीव-सृष्टि के अस्तित्व का पता लगाया जा सके।

6. नंबर एक, नंबर दो और नंबर तीन अजनबी से निपटने के कौन से तरीके सुझाते हैं और क्यों?

उत्तर:- कॉलोनी की सुरक्षा के लिए जिम्मेवार नंबर एक ने कहा कि अंतरिक्ष यानों को जलाकर बेकार कर देना व्यर्थ होगा क्योंकि इससे उन्हें कोई जानकारी प्राप्त नहीं हो पाएगी। इसलिए इन्हें खुद ज़मीन पर उतरने देना चाहिए, तत्पश्चात उन्हें बेकार करना सही रहेगा। वही नंबर दो, जो कि एक वैज्ञानिक था, उसने कहा कि अंतरिक्ष यान को बेकार करने पर दूसरे ग्रह के लोगों को उनके अस्तित्व का पता चल जाएगा, इसलिए सिर्फ़ अवलोकन करते रहना ही ठीक रहेगा। सामाजिक व्यवस्था का काम देखने वाले नंबर तीन ने कहा कि अंतरिक्ष यान भेजने वालों से अपने अस्तित्व को छुपाए रखना ही बेहतर है, क्योंकि जो लोग अंतरिक्ष यान भेजने में सक्षम है, वे कल को कई गुना बड़े अंतरिक्ष यान भी भेज सकते हैं। इसलिए उन्हें ऐसा कोई प्रबंध करना चाहिए ताकि उन यत्रों को यह गलतफ़हमी हो जाए कि मंगल की ज़मीन पर कोई भी चीज़ महत्वपूर्ण नहीं है, जिसका वे लाभ उठा सकते हैं।

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 6 – कहानी से आगे

1. इस पाठ में अंतरिक्ष यान अजनबी बनकर आता है। ‘अजनबी’ शब्द पर सोचो। इंसान भी कई बाहर अजनबी माना जाता है और कोई जगह या शहर भी। क्या तुम्हारी मुलाकात ऐसे किसी अजनबी से हुई है? नए स्कूल का पहला अनुभव कैसा था? क्या उसे भी अजनबी कहोगे? अगर हां तो ‘अजनबीपन’ दूर कैसे हुआ? इस पर सोचकर लिखो।

उत्तर:- हां, जब भी हम किसी अनजान व्यक्ति से मिलते हैं, तब हमें ‘अजनबीपन’ महसूस होता है। नए स्कूल में पहली बार जाने पर भी मुझे अजनबीपन महसूस हुआ। पहले दिन मैंने जैसे ही कक्षा में प्रवेश किया, सभी लोग मेरी तरफ देखने लग गए। अध्यापक ने कक्षा को मेरा परिचय दिया और मुझे अपनी सीट पर जाकर बैठने को कहा। कक्षा खत्म होने के बाद मेरे आस-पास बैठे छात्रों ने मुझसे बातचीत शुरू की और सभी मुझे अपनी अपनी पुस्तिका देकर पिछले पाठ समझाने लगे। लंच के समय सभी ने मुझे अपना-अपना परिचय दिया और मुझसे बहुत सारी बातें की। इस प्रकार रोज़ उन सबसे मिलकर, उनसे बातचीत करके और उनके साथ खेलने-कूदने से हमारा अजनबीपन दूर हो गया।




अनुमान और कल्पना

1. यह कहानी जमीन के अंदर की जिंदगी का पता देती है। ज़मीन के ऊपर मंगल ग्रह पर सब कुछ कैसा होगा, इसकी कल्पना करो और लिखो।

उत्तर:- मंगल ग्रह पर दूषित वातावरण के कारण सभी लोग डिब्बेनुमा बंद घरों में रहते हैं, जिनमें आधुनिक यंत्रों के माध्यम से वातावरण को मनुष्यों के अनुकूल बनाए रखा जाता है। सभी लोग घर से बाहर निकलते वक्त एक खास किस्म के स्पेस-सूट का प्रयोग करते हैैं। मंगल ग्रह पर पेड़-पौधों व अन्य जीव-जंतुओं का नामोनिशान नहीं है। दूर-दूर तक सिर्फ रेगिस्तान और पहाड़ दिखाई देते हैं। प्राकृतिक संसाधन धीरे-धीरे लुप्त होते जा रहे हैं, इसलिए उनके उचित प्रयोग पर निरंतर अध्ययन किए जा रहे हैं; ताकि वहां की जीव-सृष्टि के अस्तित्व को बचाया जा सके।

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Chapter 6 – भाषा की बात

1. ‘वार्तालाप’ शब्द वार्ता+आलाप के योग से बना है। यहां वार्ता के अंत का ‘आ’ और आलाप के आरंभ का ‘आ’ मिलने से जो परिवर्तन हुआ है, उसे संधि कहते हैं। नीचे लिखे कुछ शब्दों में किन शब्दों के संधि है-

शिष्टाचार, श्रद्धांजलि, दिनांक, उत्तरांचल, सूर्यास्त, अल्पाहार।

उत्तर:-

  • शिष्टाचार – शिष्ट + आचार
  • श्रद्धांजलि – श्रद्धा + अंजलि
  • दिनांक – दिन + अंक
  • उत्तरांचल – उत्तर + अंचल
  • सूर्यास्त – सूर्य + अस्त
  • अल्पाहार – अल्प + आहार

2. कार्ड उठाते की दरवाजा बंद हुआ।

  • यह बात हम इस तरीके से भी कह सकते हैं-

जैसे ही कार्ड उठाया, दरवाजा बंद हो गया।

  • ध्यान दो कि दोनों वाक्यों में क्या अंतर है। ऐसे वाक्यों के तीन जोड़े तुम स्वयं सोचकर लिखो।

उत्तर:-

  • छोटू ने खांचे में कार्ड डाला, तुरंत दरवाज़ा खुल गया।

छोटू के खांचे में कार्ड डालते ही दरवाज़ा खुल गया।

  • लाल बटन दबाते ही खतरे की घंटी बज उठी।

जैसे ही छोटू ने लाल बटन दबाया, खतरे की घंटी बज उठी।

  • छोटू के घर पहुंचते ही मां ने उसे डांटना शुरू कर दिया।

जैसे ही छोटू घर पहुंचा, मां ने उसे डांटना शुरू कर दिया।

3. छोटू ने चारों तरफ नज़र दौड़ाई।

छोटू ने चारों तरफ देखा।

  • उपर्युक्त वाक्यों में समानता होते हुए भी अंतर है। मुहावरे वाक्यों को विशिष्ट अर्थ देते हैं। ऐसि ही मुहावरा पहली पंक्ति में दिखाई देता है। नीचे दिए गए वाक्यांशों में ‘नज़र’ के साथ अलग-अलग क्रियाओं का प्रयोग हुआ है, जिनसे मुहावरें बने हैं। इनके प्रयोग से वाक्य बनाओ-

नज़र पड़ना, नज़र रखना, नज़र आना, नज़रें नीची होना।

उत्तर:-

  • परदेस से आए बेटे पर नज़र पड़ते ही उसकी मां की आंखों से आंसू आ गए।
  • बदमाश श्याम के माता-पिता उस पर कड़ी नज़र रखते हैं।
  • शायद उसने अपने आवारा दोस्तों को छोड़ दिया है, तभी आजकल वह बहुत कम नज़र आने लग गया है।
  • अपने बेटे के बुरे कामों का पता चलने पर उसके माता-पिता की नजरें नीची हो गई।




4. नीचे एक ही शब्द के दो रूप दिए गए हैं। एक संज्ञा है और दूसरा विशेषण है। वाक्य बनाकर समझो और बताओ कि इनमें से कौन से शब्द संज्ञा हैं और कौन से विशेषण-

आकर्षक – आकर्षण
प्रभाव – प्रभावशाली
प्रेरणा – प्रेरक
प्रतिभाशाली – प्रतिभा

उत्तर:-

  • आकर्षक (विशेषण) : उसके नृत्य की आकर्षक भाव-भंगिमाओं ने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।

आकर्षण (संज्ञा) : उसकी आवाज में एक अद्भुत आकर्षण है।

  • प्रभाव (संज्ञा) : नितेश की संगत का प्रभाव धीरे-धीरे उस पर भी दिखने लगा है।

प्रभावशाली (विशेषण) : नेताजी के प्रभावशाली भाषण ने सभी लोगों के दिल को छू लिया।

  • प्रेरणा (संज्ञा) : गांधी जी से हमें सत्य और अहिंसा के पथ पर चलने की प्रेरणा मिलती है।

प्रेरक (विशेषण) : तुम्हारे जैसी सफल हस्ती का आना हमारे स्कूल के सभी बच्चों के लिए काफ़ी प्रेरक साबित होगा।

  • प्रतिभाशाली (विशेषण) : विद्यालय में आज सभी प्रतिभाशाली छात्रों को पुरस्कृत किया जाएगा।

प्रतिभा (संज्ञा) : यश ने सभी को अपनी प्रतिभा का कायल बना दिया।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

Leave a Comment