NCERT Solutions for Class 8 Hindi Vasant Chapter 4 – Deewanon Ki Hasti

NCERT Solutions for Class 8 Hindi Vasant Chapter 4 – दीवानों की हस्ती ( Deewanon Ki Hasti ) – भगवतीचरण वर्मा ( Bhagwaticharan Verma ) 

कविता से

1. कवि ने अपने आने को ‘ उल्लास ‘ और जाने को ‘ आंसू बनकर बह जाना ‘ क्यों कहा है?

उतर – कवि ने अपने आने को ‘ उल्लास ‘ कहा है क्योंकि वो एक खुशमिजाज इंसान है, वो जहां जाता है अपने साथ खुशी बिखेरता है। उसके साथ लोग बहुत खुश रहते है, पर जब वो जाता है तो लोग दुखी हो जाते है। उसकी आंखों में और वहां के लोगो के आंखों में बिछड़ने के आंसू भर जाते हैं।




2. भिखमंगो की दुनिया में बेरोक प्यार लूटाने वाला कवि ऐसा क्यों कहता है कि वह अपने हृदय पर असफलता का एक निशान भार की तरह लेकर जा रहा है? क्या वह निराश है, या प्रसन्न है ?

उत्तर – भिखमंगो की दुनिया में बेरोक प्यार लूटाने वाला कवि कहता है कि वह अपने हृदय पर असफलता का एक निशान भार की तरह लेकर्भा रहा है, क्योंकि वो सोचता है कि यहां के लोगों को प्यार की आवश्यकता है, और वो उन्हें प्यार और खुशियां देता है, बदले में उनसे उसी प्यार और खुशी की कामना करता है, पर बदले में उसी प्यार को न मिलने के कारण वह निराश और अप्रसन्न हो जाता है।

3. कविता में ऐसी कौन – सी बात है जो आपको सबसे अच्छी लगी ?

उतर – कविता में कवि जीवन को मस्त और आजाद तरीके से जीने की बात करता है,जो मुझे सबसे अच्छी लगी। वो कहता है हमें सबके सुख – दुख का साथी होना चाहिए। ताकि जीवन जीने का आनंद मिल सके।




NCERT Solutions for Class 8 Hindi Vasant Chapter 4 – कविता से आगे

1. जीवन में मस्ती होनी चाहिए,लेकिन कब मस्ती हानिकारक हो सकती है? सहपाठियों के बीच चर्चा कीजिए।

उतर – जीवन में मस्ती होनी चाहिए,लेकिन ये मस्ती हानिकारक हो सकती है, अगर हम सिर्फ अपनी खुशी के बारे में सोचे पर दूसरों की तकलीफ़ के बारे में न सोचे की हमारी मस्ती से किसी को तकलीफ़ हो सकती है। वो हानिकारक हो सकती है।

भाषा की बात

1. संतुष्टि के लिए कवि ने ‘ छककर ‘ ‘ जी भरकर ‘ और ‘ खुलकर ‘ जैसे शब्दों का प्रयोग किया है। इसी भाव को व्यक्त करने वाले कुछ और शब्द सोचकर लिखिए – जैसे – हंसकर, गाकर।

उतर – नाचकर, बोलकर, घूमकर, देखकर। 

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

Leave a Comment