NCERT Solutions for Class 8 Hindi Durva Chapter 14

CBSE NCERT Solutions for Class 8 Hindi Durva Chapter 14 – बच्चो के प्रिय श्री केशव शंकर पिल्लै – आशा रानी व्होरा 

TextbookHindi Class 8 Durva (दूर्वा भाग 3)
Chapter14 – बच्चो के प्रिय श्री केशव शंकर पिल्लै
Authorआशा रानी व्होरा 

पाठ से –

क) गुड़ियों का संग्रह करने में केशव शंकर पिल्लै को कौन – कौन सी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा ?

उतर – गुड़ियों का संग्रह करने में केशव शंकर पिल्लै को बहुत सी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा एक तो वो गुड़िया मंहगी थी। अब सवाल यह उठता था कि उनको कैसे संभालकर सुरक्षित एक जगह से दूसरी जगह भेजे। दूसरा की उन्हें काफी समय तक सुरक्षित कैसे रखे ।




ख) वे बाल चित्रकला प्रतियोगिता क्यों करना चाहते थे?

उतर – वे बाल चित्रकला प्रतियोगिता कराके बच्चों को अपनी कला दिखाने के लिए मंच देना चाहते थे । दूसरा वो चाहते थे कि देश – विदेश के बच्चे आपस में एक दूसरे से मिल सके ।

ग) केशव शंकर पिल्लै ने बच्चों के लिए विश्वभर की चुनी हुई गुड़ियों का संग्रह क्यों किया?

उतर – केशव शंकर ने भारतीय बच्चों के लिए देश – विदेश की गुड़ियों का संग्रह किया, ताकि जो बच्चे अपने देश से बाहर विदेश नहीं जा पाए है, वो वहां की गुड़िया कैसी होती है देख सके।

घ) केशव शंकर पिल्लै हर वर्ष छुट्टियों में कैंप लगाकर सारे भारत के बच्चों को एक जगह मिलने का अवसर देकर क्या करना चाहते रहे ?

उतर – केशव शंकर पिल्लै हर वर्ष छुट्टियों में कैंप लगाकर सारे भारत के बच्चों को एक जगह मिलने का अवसर देकर देश – विदेश के बच्चों को आपस में मिलने का मौका देते है, ताकि वो एक दूसरे को समझ सके ।




CBSE NCERT Solutions for Class 8 Hindi Durva Chapter 14 – लड़ाई भी खेलजैसी –

“अनेक देशों के बच्चों कि यह फौज अलग – अलग भाषा, वेश – भूषा में होकर भी एक जैसी ही है। कई देशों के बच्चों को इकठ्ठा कर दो, खेलेंगे या लड़ेगे और यह लड़ाई भी खेल जैसी ही होगी।वे रंग,भाषा या जाति पर कभी नहीं लड़ेगे ।”

ऊपर के वाक्यों को पढ़ो और बताओ कि –

क) यह कब,किसने, किससे और क्यों लिखा ?

उतर – यह 1950 में जवाहर लाल नेहरू ने लिखा था। केशव शंकर पिल्लै जी का यह विचार था कि बच्चों की भलाई के लिए बाल चित्रकला प्रतियोगिता करवाई जाए। जिससे नेहरू जी बहुत प्रभावित हुए और उन्होंने ऐसा लिखा ।

ख) क्या लड़ाई भी खेल जैसी हो सकती है ? अगर हो तो कैसे और उस खेल में तुम्हारे विचार से क्या – क्या हो सकता है?

उतर – हा लड़ाई भी खेल हो सकती है । क्योंकि प्रतियोगिता भी एक तरह का खेल है जिसमें जितने की लड़ाई होती है। हर खेल में प्रतियोगिता हो सकती है जो लोगों को प्रोत्साहित करती है।

NCERT Solutions for Class 8

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

Leave a Comment