NCERT Solutions for Class 7 Hindi Vasant Chapter 16

NCERT Solutions for Class 7 Hindi Vasant Chapter 16 – भोर और बरखा (Bhor or Barkha) – मीरा  बाई

कविता से

1. ‘बंसीवारे ललना’, ‘मोटे प्यारे’, ‘लाल जी’, कहते हुए यशोदा किसे जगाने का प्रयास करती हैं और वे कौन-कौन सी बातें कहती हैं?

उत्तर:- ‘बंसीवारे ललना’, ‘मोटे प्यारे’, ‘लाल जी’, कहते हुए यशोदा माता अपने पुत्र कृष्ण को जगाने का प्रयास करती हैं। माता यशोदा श्रीकृष्ण को जगाने का प्रयास करते हुए उन्हें बताती है कि रात बित चुकी है, सुबह हो गई है, सभी घरों के दरवाजे खुल गए हैं, गोपियां दही मथने लग गई हैं, गोपियों के कंगनों की झनकार सुनाई पड़ने लग गई हैं, ग्वाल-बाल सब कोलाहल कर रहे हैं, सभी तुम्हारी जय-जयकार की राग अलाप रहे हैं और तुम्हारे मित्रगण माखन-रोटी हाथ में लिए गायों को चराने ले जाने के लिए तुम्हारी प्रतीक्षा कर रहे हैं; इसलिए तुम जल्दी से उठ जाओ।

2. नीचे दी गई पंक्ति का आशय अपने शब्दों में लिखिए-
‘माखन-रोटी हाथ मंह लीनी, गउवन के रखवारे।’

उत्तर:- प्रस्तुत पंक्ति में यशोदा माता श्रीकृष्ण को उठाने का प्रयास करते हुए उन्हें बताती है कि ग्वाल-बाल सब द्वार पर आकर कोलाहल कर रहे हैं और तुम्हारी जय-जयकार के शब्दों का निरंतर उच्चारण कर रहे हैं। तुम्हारे सभी मित्रों ने माखन-रोटी हाथ में ले ली है और गायों को चराने जाने के लिए तुम्हारी प्रतीक्षा कर रहे हैं।

3. पढ़े हुए पद के आधार पर ब्रज की भोर का वर्णन कीजिए।

उत्तर:- ब्रज में भोर होते ही सभी अपने-अपने घरों के किवाड़ खोल देते हैं, गोपियां दही मथने लग जाती हैं, उनके कंगनों की झंकार चारों और गूंजने लगती है, ग्वाल-बाल सब गायों को चराने जाने के लिए माखन-रोटी हाथ में लेकर तैयार हो जाते हैं और सभी लोग अपने अपने नित्य कर्मों में लग जाते हैं।




4. मीरा को सावन मनभावन क्यों लगने लगा?

उत्तर:- मीरा को सावन मनभावन इसलिए लगने लगा क्योंकि सावन में उन्हें श्री कृष्ण के आने की भनक सुनाई पड़ती है और इस एहसास से उनके मन में उमंग की तरंगें उठने लगती है। उमड़-घुमड़कर चारों ओर से पानी भरकर आए बादलों से जब बारिश की नन्ही-नन्ही बूंदे बरसती है, तब चारों ओर शीतल पवन के झोंके बहने लगते हैं और मौसम अत्यंत सुहावना हो जाता है; जो मीरा का मन मोह लेता है।

5. पाठ के आधार पर सावन की विशेषताएं लिखिए।

उत्तर:- प्रस्तुत पाठ में सावन के मनोहर दृश्य का उल्लेख किया गया है। सावन में चारों दिशाओं से आए पानी से भरे बादल आसमान में उमड़-घुमड़कर छा जाते हैं, बिजली कड़कने लग जाती है, चारों ओर बादलों की गर्जना गूंज उठती है, नन्हीं-नन्हीं बारिश की बूंदे गिरने लगती है, ठंडी-ठंडी पवन बहने लगती है और मौसम अत्यंत मनमोहक हो जाता है।

NCERT Solutions for Class 7 Hindi Vasant Chapter 16 – कविता से आगे

1. मीरा भक्तिकाल की प्रसिद्ध कवयित्री थीं। इस काल के दूसरे कवियों के नामों की सूची बनाइए तथा उनकी एक-एक रचना का नाम लिखिए।

उत्तर:- मीरा भक्तिकाल के कुछ अन्य कवि –

  • सूरदास मदनमोहन : सूर सागर
  • स्वामी हरिदास : हरिदास के पद
  • श्री भट्ट : युगल शतक
  • रसखान : प्रेम- बाटिका
  • ध्रुवदास : बयालीस-लीला

2. सावन वर्षा ऋतु का महीना है, वर्षा ऋतु से संबंधित दो अन्य महीनों के नाम लिखिए।

उत्तर:- वर्षा ऋतु से संबंधित दो अन्य महीनों के नाम है – आषाढ और भाद्रपद।




NCERT Solutions for Class 7 Hindi Vasant Chapter 16 – अनुमान और कल्पना

1. सुबह जगने के समय आपको क्या अच्छा लगता है?

उत्तर:- सुबह जगने के समय मुझे निम्नलिखित चीज अच्छी लगती है-

  • चिड़ियों का चहकना
  • मां का प्यार से मुझे जगाना
  • एक नई सुबह की खुशी और उमंग
  • सुबह का शांति और ताज़गीभरा माहौल, आदि।

2. यदि आपको अपने छोटे भाई-बहन को जगाना पड़े, तो कैसे जगायेंगे?

उत्तर:- यदि हमें अपने छोटे भाई-बहन को जगाना पड़े तो हम उसके पास बैठकर उसके बालों को सहलाएंगे और उसे उठने पर उसकी पसंदीदा चीजें लाकर देने का लालच देंगे या उसे उसकी पसंदीदा जगह ले चलने का लालच देंगे। इससे वह खुशी-खुशी उठ जाएगा।

3. वर्षा में भीगना और खेलना आपको कैसा लगता है?

उत्तर:- वर्षा में भीगना और खेलना हमें बेहद अच्छा लगता है क्योंकि बारिश की ठंडी-ठंडी बूंदे और साथ में बहती मनमोहक पवन एक नई ताज़गी और खुशी का एहसास कराती है। बारिश में भीगने और खेलने से हमें अपना बचपन याद आ जाता है। मनुष्य का बचपन उसके जीवन की सबसे अच्छी व सुखदाई अवस्था होती है। वर्षा हमें अपने बचपन को फिर से जीने का एक मौका देती है।

4. मीराबाई ने सुबह का चित्र खींचा है। अपनी कल्पना और अनुमान से लिखिए कि नीचे दिए गए स्थानों की सुबह कैसी होती है-

(क). गांव, गली या मोहल्ले में
(ख). रेलवे प्लेटफ़ाॅर्म पर
(ग). नदी या समुद्र के किनारे
(घ). पहाड़ों पर

उत्तर:-

(क). गांव, गली या मोहल्ले में सुबह-सवेरे फल-सब्जी बेचनेवालों की आवाज़ें सुनाई देने लग जाती है, दूधवालों का आना-जाना शुरू हो जाता है, सैर करने के लिए लोग अपने अपने घरों से बाहर निकल आते हैं, बच्चे स्कूल के लिए और बड़े अपने-अपने काम पर जाने के लिए तैयार हो जाते हैं। चारों और एक नई सुबह का उल्लास और उमंग की तरंग दिखाई पड़ती है।

(ख). रेलवे प्लेटफ़ाॅर्म पर सफाईकर्मी सफाई करने लग जाते हैं और वहां मौजूद आवारा पशुओं को प्लेटफार्म से बाहर निकालने लग जाते हैं। सभी रेलवे कर्मचारी आकर अपना-अपना स्थान ले लेते हैं। प्लेटफॉर्म पर रह रहे भिखारी उठ जाते हैं और भीख में मिली खाने की चीजों से नाश्ता करते दिखाई पड़ते हैं। लोकल ट्रेनों से काम पर जाने वालों की टिकट काउंटर पर भीड़ लग जाती है। सभी लोग जल्दी में दिखाई पड़ते हैं।

(ग). नदी और समुद्र का किनारा पक्षियों की चहक से गूंज उठता है। कल-कल बहते पानी की आवाज साफ सुनाई पड़ती है। फूलों पर तितलियां मंडराने लगती है। सभी पशु-पक्षी इधर-उधर उछलने कूदने लगते हैं।

(घ). सुबह के समय पहाड़ों पर ठंडी-ठंडी हवा बहती रहती हैं। भीड़भाड़ वाले इलाकों से परे पहाड़ों पर एक सुकूनभरी शांति छाई रहती है। पशु-पक्षियों की आवाजें सुनाई पड़ती है। सूरज की पहली किरणें पहाड़ों के माध्यम से धरती पर पैर जमाती है।




NCERT Solutions for Class 7 Hindi Vasant Chapter 16 – भाषा की बात

1. कृष्ण को ‘गउवन के रखवारे’ कहा गया है जिसका अर्थ है गौओं का पालन करनेवाले। इसके लिए एक शब्द दें।

उत्तर:- गौओं का पालन करनेवाला – ग्वाला या गोपाल।

2. नीचे दो पंक्तियां दी गई हैं। इनमें से पहली पंक्ति में रेखांकित शब्द दो बार आए हैं, और दूसरी पंक्ति में भी दो बार। इन्हें पुनरुक्ति (पुन:उक्ति) कहते हैं। पहली पंक्ति में रेखांकित शब्द विशेषण हैं और दूसरी पंक्ति में संज्ञा।

‘नन्ही-नन्ही बूंदन मेहा बरसे’                    
‘घर-घर’ गुल्ले किंवारे’

  • इस प्रकार के दो-दो उदाहरण खोजकर वाक्य में प्रयोग कीजिए और देखिए कि विशेषण तथा संज्ञा की पुनरुक्ति के अर्थ में क्या अंतर है? जैसे- मीठी-मीठी बातें, फूल-फूल महके।

उत्तर:-

संज्ञा शब्द की पुनरुक्ति –

  • आंगन में लगे गुलाब के फूलों से घर का कोना-कोना महक गया है।
  • प्रेमी-प्रेमिका के बीच आंखों-आंखों में बातें हो रही थी।

विशेषण शब्द की पुनरुक्ति –

  • अधिकतर लोग सिर्फ बड़ी-बड़ी बातें ही करते है।
  • अपनी शादी की बात सुनकर पुजा के गाल टमाटर की तरह लाल-लाल हो गए।

कुछ करने को

3. कृष्ण को ‘गिरधर’ क्यों कहा जाता है? इसके पीछे कौन सी कथा है? पता कीजिए और कक्षा में बताइए।

उत्तर:- कृष्ण को गिरधर इसलिए कहा जाता है क्योंकि जब इंद्र ने कुपित होकर गोकुल पर कई महीनों तक लगातार वर्षा की थी, तब गोकुलवासियों की सुरक्षा करने हेतु श्रीकृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को अपनी छोटी अंगुली से उठा लिया था और सभी गोकुलवासियों को पर्वत के छत्र में आश्रय दिया था। गिरधर शब्द दो शब्दों के मेल से बना है।

गिरी + धर, गिरी का अर्थ होता है पर्वत और धर यानी धरना या उठा लेना; अर्थात् जिसने पर्वत को उठा लिया हो।

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

Leave a Comment