NCERT Solutions for Class 10 Hindi Kshitij Chapter 8 – ऋतुराज – कन्यादान

NCERT Solutions for Class 10 Hindi Kshitij Chapter 8 – ऋतुराज (Rituraj) – कन्यादान (Kanyadan)

काव्य खंड

प्रश्न-अभ्यास

1. आपके विचार से माँ ने ऐसा क्यों कहा कि लड़की होना पर लड़की जैसी दिखाई मत देना ?

उत्तर- माँ ने ऐसा इसीलिए कहा क्योकि माँ दुनिया में होते बेटियो के प्रति आत्याचारों से अपनी बेटी को बचाना चाहती है। माँ अपनी बेटी को सीख देती है कि हमेशा अपने स्वभाव मे शालीनता एवं कोमलता बनाए रखना परंतु कभी भी इसको जग ज़ाहीर मत होने देना क्योकि फिर दुनिया इन ही सारी खूबियों का फायदा उठाती है।





2. ‘आग रोटियाँ सेंकनें के लिस है जलने के लिए नहीं।’

(क) इन पंक्तियों मे समाज मे स्त्री की किस स्थिति की ओर संकेत किया गया है?
(ख) माँ ने बेटी को सचेत करना क्यों जरूरी समझा?

उत्तर- (क) इन पंक्तियों मे समाज द्वारा नारी पर किए जाने वाले तमाम अत्याचारो पर संकेत किया गया है। नारी अपना हर क्षण परिवार का भरण-पोषण करने मे व्यतीत करती है तथा खुद को हर दुख की धूप मे तपाती है ताकि उसके परिवार पर कोई आँच न आए परंतु परिवार की ओर से वह हमेशा ही वह सुख से वंचित रहती है जिसकी वह हकदार है।

(ख) अभी इतनी बड़ी नहीं हुई थी कि वह हर उसके आसपास होती अच्छी बुरी चीजों को भाप जाए, औ२ माँ नहीं चाहती थी कि जो चीजे भूत मे उसे झेलनी पड़ी वह उसकी बेटी भविष्य मे झेले, इसी कारण माँ अपनी बेटी को सचेत करना जरूरी समझती है।

3. ‘पाठिका थी वह धुँधले प्रकाश की कुछ तुको और क़ुछ लयबद्ध पंक्तियों की’ इन पंक्तियों को पढ़कर लडकी की जो छवि आपके सामने उभरकर आ रही है उसे शब्दबध्द कीजिए।

उत्तर-  इन पंक्तियो को पढ़कर यह पता चलता है कि लड़की बेहद कम उम्र की है। अभी उसे दुनियादारी की कोई समझ नही है। वह अपने माँ-बाप की छाया मे सुरक्षित व खुश है तथा वह अपने भविष्य के सुनहरे सपने देखने मे व्यस्त है।

4. मॉ को अपनी बेटी अंतिम पूँजी क्यों लग २ही है?

उत्तर- माँ और बेटी के बीच का रिश्ता ह२ रिश्ते से ज्यादा गहराई रखता है। माँ के लिए उसकी बेटी ही उसकी सबसे खास दोस्त होती है। इसलिए माँ सोचती है कि जब कन्यादान की बारी आएगी तो उसके बाद उसके पास कुछ नहीं बचेगा, उसकी उम्रभर की पूँजी उससे ले ली जाएगी। इसी कारण माँ को उसकी बेटी ‘अंतिम पूँजी’ लगती है।




5. माँ ने बेटी को क्या रीख दी?

उत्तर- माँ ने बेटी को निम्नलिखित सीख दी है-

  • अपनी सुंदरता पर कभी गर्व मत करना।
  • धन-संपत्ति से कभी मोहित मत होना।
  • जीवन के कष्टो का डटकर सामना करना, कभी भी आत्महत्या का विचार भी अपने अंदर आने मत देना।
  • सरलता और भोलेपन को कभी अपनी कमजोरी मत बनने देना।

NCERT Solutions for Class 10 Hindi Kshitij Chapter 8 – रचना और अभिव्यक्ति

6. आपकी दृष्टि मे कन्या के साथ दान की बात करना कहॉ तक उचित है?

उत्तर- बेटी कोई वस्तु नहीं जिसका दान हो इसलिए कन्या के साथ दान शब्द का प्रयोग सही नहीं है। शादी के बाद जरुर बेटी दूसरे घर चली जाती है परंतु उसका स्नेह और प्यार अपने मायके वालो के साथ हमेशा बना २हता है।

NCERT Solutions For Class 10 – Click here

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

Leave a Comment