NCERT Solutions for Class 10 Hindi Kshitij Chapter 10 – स्वयं प्रकाश

NCERT Solutions for Class 10 Hindi Kshitij Chapter 10 Netaji Ka Chashma (नेताजी का चश्मा)

TextbookHindi Class 10 Kshitij (क्षितिज भाग 2)
Chapter10 – Netaji Ka Chashma (नेताजी का चश्मा)
AuthorSwayam Prakash (स्वयं प्रकाश)
KhandGadya Khand (गद्य खंड)

प्रश्न-अभ्यास

1. सेनानी न होते हुए भी च१मेवाले को लोग कैप्टन क्यों कहते थे?

उत्तर- सेनानी न होते हुए भी चश्मेवाले को लोग कैप्टन इसलिए कहते थे क्योकि उसमे देश के प्रति बहुत आदर व सम्मान था तथा व देशप्रेम की भावना से भरा था।




2. हालदार साहब ने ड्राइवर को पहले चौराहे पर गाड़ी रोकने के लिए मना किया था लेकिन बाद मे तुरंत रोकने को कहा –

(क) हालदार साहब पहले मायूस क्यों हो गए थे?
(ख) मूर्ति पर सरकंड़ें का चश्मा क्या उम्मीद जगाता है?
(ग) हालदार साहब इतनी सी बात पर भावुक क्यों हो उठे?

उत्तर- (क) हालदार साहब पहले इसलिए मायूस हो गए थे क्योकिं उन्होने सोचा कि आज़ वह कस्बे के चौराहे पर बासे की मूर्ति तो जरूर मिलेगी, परंतु पहले के जैसे उसमे चश्मा नही लगा होगा क्योकि च१मे म२ चुका है औ२ किसी अन्य से यह उम्मीद नहीं की जा सकती।

(ख) मूर्ति पर सरकंडे का चश्मा यह उम्मीद जगाता है कि आज भी लोगो मे देशप्रेम की भावना जीवित है।

(ग) हालदार साहब ने जब नेताजी की मूर्ति पर सरकंडे का चश्मा देखा, तो उनकी मन की निराशा छ्ण मे दूर हो गई और उनकी आँखे खुशी से नम हो गई।

3. आशय स्पष्ट कीजिए।

“बार-बार सोचते, क्या होगा उस कौम का जो अपने देश के खातिर घ२ – गृहस्थी – जवानी – जिन्दगी सब कुछ होम देनेवालों पर भी हँसती है और अपने लिए बिकने के मौके ढूँढ़ती है।”

उत्तर- हालदार साहब बार-बार सोचते है कि उस कौम का क्या होगा जो देश के लिए सबकुछ छोड़ देने वालो पर भी हँसते है। केवल अपनी स्वार्थ की पूर्ति के लिए जीते है और देशप्रेम की भावना को हँसी मे उड़ाते है।





4. पानवाले का एक रेखाचित्र प्रस्तुत कीजिए।

उत्तर- पानवाला काला और मोटा था। वह बहुत खुशमिजाज व्यक्ति था। वह हरदम अपने मुँह मे पान दबाए रहता था जिसके कारण उसके दाँत लाल और काले हो गए थे।

5. “वो लँगड़ा क्या जाएगा फौज मे, पागल है पागल।” कैप्टन के प्रति पानवाले की इस टिप्पणी पर अपनी प्रतिक्रिया लिखिए।

उत्तर- कैप्टन भले ही शरीर से असक्षम था पर उसके दिल मे देशप्रेम की भावना किसी फौजी से कम नहीं थी। उसमे देश के लिए कुछ कर देने का पागलपन था जिसके कारण पानवाला उसका मजाक उड़ाता है, पानवाले का ऐसा बर्ताव उसकी छोटी सोच का पता देता है और उसके स्वार्थपरता की भावना को दर्शाता है । सच तो यह है कि कैप्टन की सम्पर्ण की भावना वाहवाही की पात्र है, अपहास की नहीं।

NCERT Solutions for Class 10 Hindi Kshitij Chapter 10 Netaji Ka Chashma – रचना और अभिव्यक्ति

6. निम्नलिखित वाक्य पात्रो की कौन- सी विशेषता की ओर संकेत करते हैं-

(क) हालदार साहब हमेशा चौराहे पर रुकते और नेताजी को निहारते।
(ख) पानवाला उदास हो गया। उसने पीछे मुड़कर मुंह का पान नीचे थूका और सिर झुकाकर अपनी धोती के सिरे से आँखे पोंछता हुआ बोला-साहब! कैप्टन मर गया।
(ग) कैप्टन बार- बार मूर्ति पर चश्मा लगा देता था।

उत्तर- (क) हालदार साहब के अंदर छिपी देशप्रेम की भावना झलकती है।
(ख) पानवाले की संवेदनशीलता और देशप्रेम की भावना का पता चलता है।
(ग) कैप्टन के दिल मे देश का सबसे ऊँचा स्थान था तथा उसके दिल मे देशप्रेमियो के लिए भी इज्जत कूटकूट कर भरी थी।

7. जब तक हालदार साहब ने कैप्टन को साक्षात् देखा नही था तब तक उनके मानस फ्ल पर उसका कौन- सा चित्र २हा होगा, अपनी कल्पना से लिखिए।

उत्तर- हालदार साहब ने जबतक कैप्टन को देखा नहीं था तबतक उनके मानस पटल पर कैप्टन की एक रौबदार व मजबूत काया वाले आदमी की छवि रही होगी। हालदार साहब को लगता होगा कि फौज मे होने के कारण उसे कैप्टन कहा जाता है।





8. कस्बो, शहरो, महानगरों के चौराहो पर किसी न किसी क्षेत्र के प्रसिद्ध व्यक्ति की मूर्ति लगाने का प्रचलन सा हो गया है-

(क) इस तरह की मूर्ति लगाने के क्या 3द्देश्य हो सकते है?
(ख) आप अपने इलाके के चौराहे पर किसकी मूर्ति लगवाना चाहेंगे और क्यों ?
(ग) ३स मूर्ति के प्रति आपके व दूसरे लोगो के क्या उत्तरदायित्व होने चाहिए ?

उत्तर- (क) इस मूर्ति को लगाने का उद्देश्य जन सामान्य मे देश प्रेम की भावना को जाग्रत करना होगा।
(ख) हम अपने इलाके मे गाँधी जी की मूर्ति लगाना चाहेंगे ताकि हर किसी को अहिंसा की सीख मिल सके।
(ग) ३स मूर्ति के प्रति हमारा यह ३त्तरदायित्तव होगा कि हम ३स मूर्ति की गरिमा को बनाए रखे व उसको कोई क्षति न पहुँचाए तथा उस महापुरुष के गुणो को अपने आचरण मे शामिल करें।

NCERT Solutions for Class 10 Hindi Kshitij Chapter 10 Netaji Ka Chashma – भाषा अध्ययन

1. निम्नलिखित वाक्यों से निपात छाँटिए और उनसे नए वाक्य बनाइए –

(क) नगरपालिका थी तो कुछ न कुछ करती भी रहती थी।
(ख) किसी स्थानीय कलाकार को ही अवसर देने का निर्णय किया गया होगा।
(ग) यानी चश्मा तो था लेकिन संगमरमर का नहीं था।
(घ) हालदार साहब अब भी नहीं समझ पाए।
(ङ) दो साल तक हालदार साहब अपने काम के सिलसिले में ३स कस्बे से गुजरते रहे।

उत्तर- (क) कुछ न कुछ – हमे हमेशा कुछ न कुछ काम करते रहना चाहिए।
(ख) को ही- मेहनत करने वाले को ही सफलता मिलती है।
(ग) तो था- मै वहाँ गया तो था मगर मुझे वहाँ कोई मिला नहीं।
(घ) अब भी- तुम अब भी पढ़ने नहीं बैठे।
(ङ) में- बारिश में चाय पीने का मजा ही अलग है।

2. निग्नलिखित वाक्यों को कर्मवाच्य मे बदलिए –

1) पानवाला नया पान खा २हा था।
2) पानवाले ने साफ बता दिया था।
3) ड्राइवर ने जो२ से ब्रेक मारे।
4) नेताजी ने देश के लिए अपना सबकुछ त्याग दिया।

उत्तर- 1) पानवाले से नया पान खाया जा २हा था।
2) पानवाले द्वारा साफ़ बता दिया गया था।
3) ड्राइवर द्वारा जोर से ब्रेक मारा गया।
4) नेताजी द्वारा देश के लिए अपना सबकुछ त्याग दिया गया।





3. नीचे दिए वाक्यों को भाववाच्य मे बदलिए।

(क) माँ बैठ नहीं सकती।
(ख) मैं देख नहीं सकती।
(ग) चलो, अब सोते है।
(घ) माँ रो भी नहीं सकती।

उत्तर- (क) माँ से बैठा नहीं जाता।
(ख) मुझसे देखा नहीं जाता।
(ग) चलो, अब सोया जाए।
(घ) माँ से रोया भी नहीं जाता।

NCERT Solutions for Class 10

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

Leave a Comment