Shabd Vichar in Hindi

शब्द विचार ( Shabd Vichar in Hindi ) – वर्णों का ऐसा समूह जिसका निश्चित अर्थ होता है, उसे शब्द कहते हैं।

जैसे-
राहुल = र्+आ+ह्+उ+ल+अ ।
कमल = क+म+ल
म+क+ल = मकल




पद –
मोहन पुस्तक पढ़ता है।
वाक्य में प्रयुक्त शब्दों को पद कहते हैं

शब्द के भेद (Shabd bhed )

1. उत्पत्ति के स्रोत के आधार पर शब्द के भेद
2.रचना या बनावट के आधार पर शब्द के भेद
3.वाक्य में प्रयोग के आधार पर शब्द के भेद
4.व्याकरणिक प्रकार्य के आधार पर शब्द के भेद
5.अर्थ के आधार पर शब्द के भेद

अभ्यास प्रश्न

1. जब शब्द वाक्य में प्रयुक्त होता है तो उसे……. कहते हैं।
(क) शब्द
(ख) पद
(ग) अविकारी
(घ) विकारी

2. शब्द किसे कहते हैं।
(क) वाक्य में प्रयुक्त शब्दों को
(ख) वर्णों के सार्थक समूह को
(ग) वर्णों के मेल से होने वाले परिवर्तन को
(घ) उस शब्द को जो किसी भी विकार से रहित हो।

उत्पत्ति या स्रोत के आधार पर शब्द (Shabd Vichar in Hindi)

1.तत्सम
2.तद्भव
3.देशज
4.विदेशी

1.तत्सम शब्द-

तत् + सम्
उसके  समान

अर्थात – उसके (संस्कृत) सामान

तत्सम शब्द – संस्कृत के वे शब्द जो उसी रूप में हिंदी भाषा में प्रयोग में लाए जाते हैं, तत्सम शब्द कहलाते हैं।
जैसे- अग्नि, पर्वत, जल, भूमि, वानर, मुख आदि।

2.तद्भव- 

तद्     +  भव
उससे     उत्पन्न

अर्थात – उससे( संस्कृत) उत्पन्

तद्भव शब्द – तद्भव शब्द का अर्थ है- उससे उत्पन्न। ….शब्द संस्कृत के मूल शब्दों से कुछ बिगड़कर हिंदी में प्रयुक्त है, उन्हें तद्भव शब्द कहते हैं।

3. देशज शब्द – जो शब्द स्थानीय क्षेत्रीय प्रभाव के कारण आवश्यकतानुसार हिंदी में आ गए हैं देशज शब्द कहलाते हैं।
जैसे- खिचड़ी, झुग्गी, मटका, तोंद, पेट, खिड़की आदि।

4. विदेशी शब्द – जैसे

अरबी- अखबार, कुरसी, किताब, मरीज ।
फारसी- अचार, आदमी, आसमान, बीमार, खराब, कारोबार आदि।
अंग्रेजी- डॉक्टर, पेंसिल, टीचर, स्कूल, बाल आदि।
पुर्तगाली- तौलिया,इस्पात, कप्तान, कमरा, गमला गोदाम आदि।




अभ्यास प्रश्न

1. उत्पत्ति या स्रोत के आधार पर शब्दों को कितने भागों में बांटा गया है।
(क) 4 
(ख) 3
(ग) 6
(घ) 2

2. तद्भव शब्द….. शब्दों से बिगड़ सँवर कर बनते हैं।
(क) हिंदी
(ख) अंग्रेजी
(ग) संस्कृत
(घ) फारसी

3. ” कौआ”  शब्द का तत्सम तत्सम रूप बताइए –
(क) कपोत
(ख) काक
(ग) कच्छप

4. चिड़िया शब्द है-
(क) देशज
(ख) विदेशी
(ग) तद्भव
(घ) तत्सम

रचना या बनावट के आधार पर शब्दों के भेद (Shabd Vichar in Hindi)

1.रूढ़ शब्द
2.यौगिक शब्द
3.योगरूढ़ शब्द

1.रूढ़ शब्द – रूढ़ का अर्थ है – परंपरा से चले आ रहे हैं ।
– जो शब्द लंबे समय से किसी अर्थ के लिए जाने जाते हैं किंतु उनके सार्थक टुकड़े नहीं हो सकते, उसे रूढ़ शब्द कहलाते हैं।
जैसे- पुस्तक, पानी,पेड़, कलम आदि ।
जैसे- पुस्तक = पु+स्+त+क
पानी = पा+नी

2.यौगिक शब्द – दो या दो से अधिक शब्दों या शब्दांशों के मेल से बनने वाले शब्दों को यौगिक शब्द कहते हैं ।
योगिक शब्दों के खंड किए जा सकते हैं।
जैसे- नरेश = नर+ईश
भावार्थ = भाव+ अर्थ
विद्यालय = विद्या+ आलय

3. योगरूढ़ शब्द – जिनका प्रयोग सामान्य अर्थ के लिए न होकर किसी विशेष अर्थ के लिए होता है, उसे योगरूढ़ शब्द कहलाते हैं।
जैसे- पंकज
पंक     +       ज
कीचड़         उत्पन्न
अर्थात – कीचड़ में उत्पन्न होने वाला – कमल

अभ्यास प्रश्न

1. रचना के आधार पर शब्दों के कितने भेद होते हैं ?
(क) 5
(ख) 4
(ग) 3
(घ) 2

2. निम्नलिखित में से योगिक शब्द बताइए
(क) परोपकार
(ख) लंबोदर
(ग) दीवार
(घ) करेला

3. ” एकदंत” शब्द…… है।
(क) रूढ़ शब्द
(ख) योगिक शब्द
(ग) योगरूढ़ शब्द

4. ” लंगूर” शब्द है।
(क) रूढ़ शब्द
(ख) योगिक शब्द
(ग) योगरूढ़ शब्द

प्रयोग के आधार पर शब्द के भेद

1. सार्थक शब्द
2. निरर्थक शब्द

1. सार्थक शब्द – जिन शब्दों का कोई निश्चित अर्थ होता है, उन्हें सार्थक शब्द कहते हैं।
जैसे- विद्यालय, घर, पुस्तक आदि।

2. निरर्थक शब्द- इन शब्दों शब्दों का कोई अर्थ नहीं होता है, उन्हें निरर्थक शब्द कहते हैं।
जैसे- खट-खट, चूँ , वोटी, वानी आदि। किंतु कभी-कभी

अभ्यास प्रश्न

1. “कमल” शब्द है-
(क) सार्थक
(ख) निरर्थक

2. “वाय” तथा ” वाराम” शब्द हैं
(क) सार्थक
(ख) निरर्थक

3. प्रयोग केआधार शब्द के कितने भेद होते हैं –
(क) 5
(ख) 3
(ग) 2
(घ) 4

व्याकरणिक प्रकार्य के आधार पर शब्द के भेद (Shabd Vichar in Hindi)

1. विकारी
2. अविकारी

1. विकारी शब्द – जो शब्द लिंग, वचन, कारक काल आदि की दृष्टि से बदल जाते हैं, उन्हें विकारी शब्द कहते हैं।
विकारी शब्द चार होते हैं –

I. संज्ञा
II. सर्वनाम
III. विशेषण
IV. क्रिया

संज्ञा: नदी- नदियाँ – नदियों
पहाड़- पहाड़ी- पहाड़ियां

सर्वनाम: मैं- मेरा- हम- हमारा , जिनसे, जिन्होंने




2. अविकारी शब्द – जो शब्द लिंग, वचन, कारक और काल आदि की दृष्टि से नहीं बदलते, उन्हें अविकारी शब्द कहते हैं, अविकारी शब्द भी चार होते है-

I. क्रियाविशेषण
II. संबंधबोधक
III. समुच्चयबोधक
IV. विस्मयादिबोधक

I. क्रियाविशेषण 

जैसे –  मैं माता – पिता की सेवा आजीवन करूंगा।
हम माता – पिता की सेवा आजीवन करेंगे।

II. संबंधबोधक

जैसे – लकड़ी के बिना आग नहीं जलेगी
लकड़ियों के बिना आग नहीं चलेगी

III. समुच्चयबोधक

जैसे – ममता और शोभा ने कपड़े खरीदे
वेदांत और अर्पित ने कविता पढ़ी

IV. विस्मयादिबोधक

अरे! राधा आ गई ।
अरे! राकेश आ गया।

अभ्यास प्रश्न

1. व्याकरणिक प्रकार्य के आधार पर शब्द के कितने भेद होते हैं?
(क) 3
(ख) 4
(ग) 2
(घ) 5

2. विकारी शब्द के कितने भेद होते हैं-
(क) 3
(ख) 4
(ग) 5
(घ) 6

3. निम्न में से अविकारी शब्द नहीं है –
(क) संबंधबोधक
(ख) सर्वनाम
(ग) विस्मयादिबोधक
(घ) क्रिया विशेषण

4. निम्न में से विकारी शब्द नहीं है –
(क) संज्ञा
(ख) विशेषण
(ग) क्रिया
(घ) समुच्चयबोधक

शब्द भेद – अर्थ के आधार पर (Shabd Vichar in Hindi)

1. पर्यायवाची शब्द
2. विलोम शब्द
3. अनेकार्थक शब्द
4. अनेक शब्दों के लिए एक शब्द
5. समान लगने वाले शब्द  भिन्नार्थक शब्द




1. पर्यायवाची शब्द ( Paryayvaci shabd )

ऐसे शब्द जिनके अर्थों में समानता होती है, उन्हें पर्यायवाची शब्द कहते हैं।
जैसे –
आभूषण = गहना, अलंकार, भूषण
इंद्र = सुरपति, देवराज, सुरेश, सुरेंद्र
कमल = अरविंद, जलज, पंकज, राजीव

2. विलोम शब्द –

एक-दूसरे का विपरीत अर्थ प्रकट करने वाले शब्दों को विलोम या विपरीतार्थक शब्द कहते हैं।

जैसे –
शब्द – विलोम
अमृत – विष
गद् य – पद् य
सम्मान – अपमान

3. अनेकार्थक शब्द –

जिन शब्दों के एक से अधिक अर्थ होते हैं, उन्हें अनेकार्थक शब्द कहते हैं ।
जैसे –
अंबर = आकाश, वस्त्र, केसर, कपास
भुवन = संसार, घर, महल, लोक
मान = मानना, अभिमान, इज्जत

4. अनेक शब्दों के लिए एक शब्द –

कुछ शब्द ऐसे होते हैं, जिनका प्रयोग शब्द समूह या पूरे वाक्य के स्थान पर किया जा सकता है।
जैसे –
जो कुछ भी न जानता हो – अज्ञ
जो थोड़ा जानता हो – अल्पज्ञ
जो बहुत जानता हो – बहुज्ञ

5. समान लगने वाले पर भिन्नार्थक शब्द –

ऐसे शब्द जो सुनने या पढ़ने में समान लगते हैं, परंतु उनके अर्थ भिन्न होते हैं, ऐसे शब्दों को सम्मान लगने वाले भिन्नार्थक शब्द कहते हैं।
जैसे –
अचार  –  खाने की वस्तु
आचार – आचरण
अरि  – शत्रु
आरि – ज़िद

FAQs on Shabd Vichar in Hindi

प्र.1.  शब्द किसे कहते हैं ?

उत्तर = वर्णों का ऐसा समूह जिसका निश्चित अर्थ होता है, उसे शब्द कहते है |

प्र.2.  पद किसे कहते हैं ?   

उत्तर = वाक्य में प्रयुक्त शब्दों को पद कहते हैं |

प्र.3.  उत्पत्ति या स्त्रोत के आधार पर शब्दों के कितने भेद होते है ? नाम बताइए –          

उत्तर = चार भेद होते हैं |
(i) तत्सम
(ii) तद्.भव
(iii) देशज
(iv) विदेशी

प्र.4.  ‘काजल’ शब्द तत्सम शब्द बताइए –     

उत्तर = कज्जल

प्र.5.  ‘पक्ष’ का तद्.भव बताइए –              

उत्तर = ‘पंख’

प्र.6.  रूढ़ शब्द किसे कहते है ?      

उत्तर = जो शब्द लंबे समय से किसी अर्थ के लिए जाने जाते हैं, किंतु उनके सार्थक टुकड़े नही हो सकते, उसे रूढ़ शब्द कहते हैं |

प्र.7.  प्रयोग के आधार पर शब्दों के कितने भेद होते है ? नाम बताइए –         

उत्तर = दो भेद होते हैं –
(i) सार्थक भेद
(ii) निरर्थक शब्द

प्र.8.  विकारी शब्द किसे कहते हैं ?  

उत्तर = जो शब्द लिंग, वचन, कारक, काल आदि की दृष्टि से बदल जाते हैं, उन्हें विकारी शब्द कहते हैं |

प्र.9. ‘नारी’ शब्द के पर्यायवाची बताइए –    

उत्तर = महिला, औरत, बनिता, कामिनी आदि |

प्र.10. ‘सार’ शब्द के अनेकार्थी शब्द बताइए –        

उत्तर = तत्व, निष्कर्ष, परिणाम आदि |

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

1 thought on “Shabd Vichar in Hindi”

Leave a Comment