NCERT Solutions for Class 10 Hindi Sparsh Chapter 17 – Habib Tanveer

CBSE NCERT Solutions for Class 10 Hindi Sparsh Chapter 17 – हबीब तनवीर (Habib Tanveer) – कारतूस

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर एक-दो पंक्तियों में दीजिए-

1. कर्नल कालिंज का खेमा जंगल में क्यों लगा हुआ था?

उत्तर:- कर्नल कालिंज ने वज़ीर अली को गिरफ्तार करने के लिए जंगल में क्यों लगा रखा था।




2. वज़ीर अली से सिपाही क्यों तंग आ चुके थे?

उत्तर:- वजीर अली से सिपाही इसलिए तंग आ चुके थे क्योंकि वह कई वर्षों से उसे पकड़ने का प्रयास कर रहे थे और वह हमेशा उनकी आंखों में धूल झोंककर बच निकलता था।

3. कर्नल ने सवार पर नज़र रखने के लिए क्यों कहा?

उत्तर:- कर्नल ने सवार पर नज़र रखने के लिए इसलिए कहा ताकि वे पता लगा सके कि वह कहां जा रहा है और उन्हें वजीर अली के बारे में उससे कोई जानकारी मिल सके।

4. सवार ने क्यों कहा कि वज़ीर अली की गिरफ़्तारी बहुत मुश्किल है?

उत्तर:- सवार ने ऐसा इसलिए कहा क्योंकि वह खुद की वजीर अली था और उसे उनमें से कोई भी पहचान नहीं पाया था। साथ-ही-साथ वह बहुत ही बहादुर और निडर सिपाही था।

CBSE NCERT Solutions for Class 10 Hindi Sparsh Chapter 17 – निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर (25-30 शब्दों में) लिखिए-

1. वज़ीर अली के अफसाने सुनकर कर्नल को रॉबिनहुड की याद क्यों आ जाती थी?

उत्तर:- वजीर अली के अफसाने शंकर कर्नल को रॉबिनहुड की याद इसलिए आ जाती थी क्योंकि वह भी वज़ीर अली के समान साहसी, जांबाज और बहादुर था। वह भी वजीर अली की तरह आंखों में धूल झोंक कर निकल जाता था और हर किसी को चकमा देने में माहिर था। वज़ीर अली भी कई सालों से अंग्रेजों को चकमा दे रहा था और तुमसे बहुत अधिक नफरत करता था।




2. सआदत अली कौन था? उसने वज़ीर अली की पैदाइश को अपनी मौत क्यों समझा?

उत्तर:- शहादत अली आसिफ़उद्दोला का भाई था। उसने वज़ीर अली की पैदाइश को अपनी मौत इसलिए समझा क्योंकि आसिफ़उद्दोला के यहां लड़के की कोई उम्मीद नहीं थी और इसलिए आसिफ़उद्दोला के बाद शहादत अली के नवाब बनने के पूरे-पूरे आसार थे। लेकिन वजीर अली के जन्म ने उससे उसका नवाब बनने ख्वाब छीन लिया था।

3. सआदत अली को अवध के तख़्त पर बिठाने के पीछे कर्नल का क्या मकसद था?

उत्तर:- कर्नल शआदत अली के बहुत ही करीबी और विश्वासपात्र दोस्त थे। शआदत अली को ऐशो-आराम काफ़ी पसंद था, इसलिए वह खुद भी मौज-मस्ती करता था,पेसे उड़ाता था और अपने दोस्त कर्नल को भी पैसे दे देता था। शहादत अली के अवध के तख्त पर बैठने से कर्नल को भी फायदा हो रहा था। इसमें उसका असली मकसद उनके पेसे और जायदाद से ऐशो-आराम की जिंदगी पाने का था और इसी कारण उन्होंने शहादत अली को अवध के तट पर बिठाया।

4. कंपनी के वकील का कत्ल करने के बाद वज़ीर अली ने अपनी हिफाजत कैसे की?

उत्तर:- कंपनी के वकील का कत्ल करने के बाद वज़ीर अली आजमगढ़ की तरफ भाग गया और वहां के लोगों ने उसकी सहायता करते हुए उसे हिफाजत से घाघरा तक पहुंचा दिया। उसके बाद से वह वहां के जंगलों में भटक रहा है और सैनिकों की आंखों में धूल झोंककर हमेशा भाग निकलता है।

5. सवार के जाने के बाद कर्नल क्यों हक्का-बक्का रह गया?

उत्तर:- सवार के जाने के बाद कर्नल हक्का-बक्का इसलिए रह गया क्योंकि वह जिसे साधारण सिपाही समझ रहा था, वह स्वयं वज़ीर अली था। उसे पता था कि वे लोग उसी को पकड़ना चाहते हैं, लेकिन फिर भी वह कर्नल के खेमे में आ पहुंचा। कर्नल उसकी बहादुरी और निडरता देखकर आश्चर्यचकित हो गया।

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर (50-60 शब्दों में) लिखिए-

1. लेफ्टीनेंट को ऐसा क्यों लगा कि कंपनी के खिलाफ़ सारे हिंदुस्तान में एक लहर दौड़ गई है?

उत्तर:- लेफ्टीनेंट को लगा कि कंपनी के खिलाफ़ सारे हिंदुस्तान में एक लहर दौड़ गई है क्योंकि कर्नल ने उन्हें बताया कि वज़ीर अली के अलावा और भी कई नवाब कंपनी के खिलाफ है, जिन्होंने कंपनी के बगावत शुरू कर दी है। टीपू सुल्तान और बंगाल के नवाब का भाई शम्सुद्दौला ने भी कंपनी के खिलाफ़ ठोस कदम उठाते हुए अफ़गानिस्तान के बादशाह शाहे-ज़मा को हिंदुस्तान पर आक्रमण करने का न्योता दिया है।




2. वज़ीर अली ने कंपनी के वकील का कत्ल क्यों किया?

उत्तर:- वज़ीर अली को उसके नवाबी पद से हटाकर बनारस भेज दिया गया था। फिर कुछ महिनों बाद गवर्नर जनरल ने उनका तबादला कलकत्ता में कर दिया। इससे नाराज़ वज़ीर अली कंपनी के वकील के पास गया और उससे उसने इसकी शिक़ायत की; लेकिन उसने उसकी शिकायत को नजरअंदाज कर दिया और वह वज़ीर अली को ही खरी-खोटी सुनाने लगा। पहले से गुस्साया वज़ीर अली और आग-बबूला हो गया और उसने वकील का कत्ल कर दिया।

3. सवार ने कर्नल से कारतूस कैसे हासिल किए?

उत्तर:- वह घुड़सवार स्वयं वज़ीर अली ही था, लेकिन उसने बड़ी ही चतुराई से अपना वेश बदलकर कर्नल के खेमे में प्रवेश कर लिया। कर्नल को उसने अपनी बातों से प्रभावित कर लिया और उसे यह यकिन दिला दिया कि वह भी वज़ीर अली के ही पीछे पड़ा है। उसने कर्नल को बताया कि वह वज़ीर अली को पकड़वाने में उनकी सहायता करना चाहता है, लेकिन उसके पास कारतूस नहीं है। इसलिए कर्नल ने उसे कारतूस दे दिए।
4. वज़ीर अली एक जाँबाज सिपाही था, कैसे? स्पष्ट कीजिए।

उत्तर:- प्रस्तुत पाठ में हम वज़ीर अली के कई बहादुर कारनामे देख सकते है। वज़ीर अली ने निडरता से अपने ही शत्रु के खेमे में अकेले प्रवेश किया और बड़ी ही चतुराई से उनसे कारतूस प्राप्त कर लिया। उसके साथ सिर्फ कुछ गिने-चुने साथ ही थे लेकिन फिर भी वह कभी के खिलाफ खड़े रहा। कंपनी के वकील द्वारा अपमानजनक बातें सहन न करके, पकड़े जाने का जोखिम उठाते हुए भी उसकी हत्या कर देना उसकी बहादुरी और वीरता को दर्शाता है। वज़ीर अली अकेला इतनी बड़ी ईस्ट इंडिया कंपनी के खिलाफ खड़ा था और वह देश की आज़ादी के लिए अपने प्राण न्योछावर करने के लिए तत्पर था।




CBSE NCERT Solutions for Class 10 Hindi Sparsh Chapter 17 – निम्नलिखित के आशय स्पष्ट कीजिए-

1. मुट्ठीभर आदमी और ये दमखम।

उत्तर:- प्रस्तुत पंक्ति में वज़ीर अली और उसके साथियों की प्रशंसा की गई है। वज़ीर अली के समूह में बहुत ही कम लोग थे, लेकिन सभी बहुत ही जांबाज, बहादुर, निडर और शक्तिशाली थे।

2. गर्द तो ऐसे उड़ रही है जैसे कि पूरा एक काफिला चला आ रहा हो मगर मुझे तो एक ही सवार नज़र आता है।

उत्तर:- प्रस्तुत पंक्ति के अनुसार जब वज़ीर अली कर्नल के खेमे की तरफ आ रहा था, तब दूर से ऐसा प्रतीत हो रहा था मानो एक पूरा काफिला आ रहा हो। इससे लेखक दर्शाना चाह रहा है कि वज़ीर अली जैसे वीर और बहादुर सिपाही के आने पर एक काफिले के आने जैसा प्रभाव उत्पन्न होता था।

Chapter 17 – भाषा-अध्ययन

1. निम्नलिखित शब्दों का एक-एक पर्याय लिखिए-
खिलाफ़, पाक, उम्मीद, हासिल, कामयाब, वजीफ़ा, नफ़रत, हमला, इंतेज़ार, मुमकिन।

उत्तर:-

खिलाफ़ – विरूद्ध
पाक – पवित्र
उम्मीद – आशा
हासिल – मिलना
कामयाब – सफल
वजीफ़ा – परवरिश के लिए दी जाने वाली राशि
नफ़रत – घृणा
हमला – आक्रमण
इंतज़ार – प्रतीक्षा
मुमकिन – संभव




2. निम्नलिखित मुहावरों का अपने वाक्य में प्रयोग कीजिए-

आँखों में धूल झोंकना, कूटकूट कर भरना, काम तमाम कर देना, जान बख्श देना, हक्का-बक्का रह जाना।

उत्तर:-

(क). राम ये सब ग़लत काम करके अपने मां-बाप की आंखों में धूल झोंक रहा है।
(ख). हमारे सैनिकों में देशभक्ति की भावना कूट-कूट कर भरी है।
(ग). देखते ही देखते वजीर सिंह के साथियों ने अंग्रेजों के पूरे दल का काम तमाम कर दिया।
(घ). उसकी भोली शक्ल देखकर डाकूओं ने उसकी जान बख्श दी।
(ड़). उसको‌ इतनी बुरी बातें बोलते हुए देखकर उसके माता-पिता हक्के-बक्के रह गए।

3. कारक वाक्य में संज्ञा या सर्वनाम का क्रिया के साथ सम्बन्ध बताता है। निम्नलिखित वाक्यों में कारकों को रेखांकित कर उनके नाम लिखिए –
(क) जंगल की ज़िंदगी बड़ी खतरनाक होती है।
(ख) कंपनी के खिलाफ़ सारे हिन्दुस्तान में एक लहर दौड़ गई।
(ग) वज़ीर को उसके पद से हटा दिया गया।
(घ) फ़ौज के लिए कारतूस की आवश्यकता थी।
(ङ) सिपाही घोड़े पर सवार था।

उत्तर:-

(क). जंगल की ज़िंदगी बड़ी खतरनाक होती है। (सम्बन्ध कारक)
(ख) कंपनी के खिलाफ़ सारे हिन्दुस्तान में एक लहर दौड़ गई। (सम्बन्ध कारक, अधिकरण कारक)
(ग) वज़ीर को उसके पद से हटा दिया गया। (कर्म कारक, अपादान कारक)
(घ) फ़ौज के लिए कारतूस की आवश्यकता थी। (सम्प्रदान कारक, सम्बन्ध कारक)
(ङ) सिपाही घोड़े पर सवार था। (अधिकरण कारक)

4. क्रिया का लिंग और वचन सामान्यत: कर्ता और कर्म के लिंग और वचन के अनुसार निर्धारित होता है। वाक्य में कर्ता और कर्म के लिंग, वचन और पुरुष के अनुसार जब क्रिया के लिंग, वचन आदि में परिवर्तन होता है तो उसे अन्विति कहते हैं।

क्रिया के लिंग, वचन में परिवर्तन तभी होता है जब कर्ता या कर्म परसर्ग रहित हों;

जैसे –

सवार कारतूस माँग रहा था? (कर्ता के कारण)

सवार ने कारतूस माँगे? (कर्म के कारण)

कर्नल ने वज़ीर अली को नहीं पहचाना? (यहाँ क्रिया कर्ता और कर्म किसी के भी कारण प्रभावित नहीं है)

अत : कर्ता और कर्म के परसर्ग सहित होने पर क्रिया कर्ता और कर्म में से किसी के भी लिंग और वचन से प्रभावित नहीं होती और वह एकवचन पुल्लिंग में ही प्रयुक्त होती है। नीचे दिए गए वाक्यों में ‘ ने ‘ लगाकर उन्हें दुबारा लिखिए –

(क) घोड़ा पानी पी रहा था।

(ख) बच्चे दशहरे का मेला देखने गए।

(ग) रॉबिनहुड गरीबों की मदद करता था।

(घ) देशभर के लोग उसकी प्रशंसा कर रहे थे।

उत्तर:-

(क). घोड़े ने पानी पीया।

(ख). बच्चों ने दशहरे का मेला देखा।

(ग). राॅबिनहुड ने ग़रीबों की मदद की।

(घ). देशभर के लोगों ने उसकी प्रशंसा की।




5. निम्नलिखित वाक्यों में उचित विरामचिह लगाइए –

(क) कर्नल ने कहा सिपाहियों इस पर नज़र रखो ये किस तरफ़ जा रहा है

(ख) सवार ने पूछा आपने इस मकाम पर क्यों खेमा डाला है इतने लावलश्कर की क्या ज़रूरत है

(ग ) खेमे के अंदर दो व्यक्ति बैठे बातें कर रहे थे चाँदनी छिटकी हुई थी और बाहर सिपाही पहरा दे रहे थे एक व्यक्ति कह रहा था दुश्मन कभी भी हमला कर सकता है

उत्तर:-

(क) कर्नल ने कहा, “सिपाहियों! इस पर नज़र रखो, ये किस तरफ़ जा रहा है?”

(ख) सवार ने पूछा, “आपने इस मकाम पर क्यों खेमा डाला है? इतने लावलश्कर की क्या ज़रूरत है?”

(ग ) खेमे के अंदर दो व्यक्ति बैठे बातें कर रहे थे, चाँदनी छिटकी हुई थी और बाहर सिपाही पहरा दे रहे थे। एक व्यक्ति कह रहा था, “दुश्मन कभी भी हमला कर सकता है।”

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

Leave a Comment