लिंग – लिंग के भेद

लिंग का शाब्दिक अर्थ है – ‘चिह्न अथवा पहचान’
शब्द का वह रूप जो पुरुष – जाति या स्त्री – जाति का बोध कराता है, उसे लिंग कहते हैं |
जैसे
मोर नाच रहा है |
चिड़ियाँ पेड़ की डाल पर बैठी है |
राम बैठा है |
सीता बैठी है |




लिंग – लिंग के भेद – Video Explanation

लिंग के भेद (Ling ke bhed)

लिंग के भेद

पुल्लिंग

जिस शब्द से पुरुष – जाति का बोध होता है, उसे पुल्लिंग कहते है |
जैसे – घोड़ा, बालक, आदमी

स्त्रीलिंग

जिस शब्द से स्त्री – जाति का बोध होता है, उसे स्त्रीलिंग  कहते हैं |
जैसे→ गाय, बालिका, शेरनी




पुल्लिंग की पहचान

जिन शब्दों के अंत में आ, आव, पा, न आदि आते वे शब्द   अधिकतर पुल्लिंग होते हैं |
जैसे


स्त्रीलिंग की पहचान

जिन शब्दों के अंत में ई, आवट, इया, ता, आई, आहट आदि प्रत्यय लगे   हो   तो  स्त्रीलिंग होते हैं |





सदा पुल्लिंग रहने वाले शब्द

(1)  देशो के नाम
(2)  पर्वतों के नाम
(3)  महाद्वीपों के नाम
(4)  दिन तथा महीनों के नाम
(5)  ग्रहों के नाम
(6)  धातुओं के नाम
(7)  वृक्षों या अनाजों के नाम

सदा स्त्रीलिंग रहने वाले शब्द

(1)  नदियों के नाम
(2)  तिथियों के नाम
(3)  नक्षत्रों के नाम
(4)  भाषाओं के नाम
(5)  किराने की दूकान का सामान
(6)  इकारांत तत्सम संज्ञाएँ → जाति, भक्ति, शक्ति, अग्नि
(7)  उकारांत तत्सम संज्ञाएँ → वायु, आयु, ऋतु




लिंग परिवर्तन – (Ling Privartan)

‘ई’ प्रत्यय लगाकर
पुल्लिंग = स्त्रीलिंग
बेटा + ई  = बेटी
पुत्र + ई = पुत्री
घोड़ा + ई = घोड़ी

आकारांत पुल्लिंग शब्दों के अंत में ‘इया’ प्रत्यय लगाकर
पुल्लिंग = स्त्रीलिंग
डिब्बा + ‘इया’ = डिबिया
बूढ़ा + ‘इया’ = बुढ़िया
चूहा + ‘इया’ = चुहिया

व्यवसाय सूचक पुल्लिंग शब्दों के अंत में ‘इन’ प्रत्यय लगाकर
पुल्लिंग = स्त्रीलिंग
 माली + ‘इन’ = मालिन
पुजारी + ‘इन’ = पुजारिन

कुछ शब्द सदा पुल्लिंग / स्त्रीलिंग होते हैं :

शरीर के अंगों के नाम :

पुल्लिंग – हाथ, पाँव, नाखून आदि |
स्त्रीलिंग – आँख, नाक, जीभ, ठोड़ी, उँगलियाँ आदि |

अन्न के नाम :

पुल्लिंग – गेहूँ, चावल, चना, मटर, बाजरा आदि |
स्त्रीलिंग – मकई, जुआर आदि |

पेड़ के नाम :

पुल्लिंग – आम, नीम, अशोक, पीपल, बरगद आदि |
स्त्रीलिंग – लीची, नाशपाती, नारंगी, सूरजमुखी आदि |




Learn More..

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

3 thoughts on “लिंग – लिंग के भेद”

Leave a Comment