NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kshitij Chapter 11 – सवैये – रसखान

NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kshitij Chapter 11 – Savaiye (सवैये)

काव्य खंड

प्रश्न-अभ्यास

1. ब्रजभूमि के प्रति कवि का प्रेम किन-किन रूपों में अभिव्यक्त हुआ है?

उत्तर:- प्रस्तुत काव्य में कवि प्रभु से विनती करता है कि अगर उसे धरती पर मनुष्य बना कर भेजा जाए, तो वह ब्रिज भूमि पर ग्वाला बनना चाहेगा; अगर उसे पशु बनाकर भेजा जाए, तो वह कृष्ण की गायों में से एक बनना चाहेगा; अगर पक्षी बनाया जाए, तो वह कंदब के पेड़ की डाली पर वास करना चाहेगा और अगर पत्थर बनाया जाए, तब भी वह ब्रजभूमि पर ही रहना चाहेगा। इन सब से कवि का ब्रजभूमि के प्रति गहरा लगाव अभिव्यक्त होता है। वह हर जन्म में ब्रजभूमि पर ही पैदा होना चाहता है व अपना पूरा जीवन उस पर न्योछावर करना चाहता है।




2. कवि का ब्रज के वन, बाग और तालाब को निहारने के पीछे क्या कारण है?

उत्तर:- कवि को ब्रजभूमि से गहरा लगाव इसलिए है क्योंकि वह कृष्ण का जन्म स्थान रहा है और वहां कृष्ण ने तरह-तरह की अठखेलियां व शरारतें की थी। उन्होंने वहां अपनी बांसुरी के मधुर स्वर से सबको मनमोहक अनुभव करवाया था। कवि को इसी कारण वह स्थान दिव्य लगता है और वे उस स्थान पर इन सबको महसुस करते हैं, इसलिए वे कृष्ण से जुड़ी इन सब चीजों को व ब्रजभूमि को निहारते हैं।

3. एक लकुटी और कामरिया पर कवि सब कुछ न्यौछावर करने को क्यों तैयार है?

उत्तर:- कवि एक कंबल और लाठी पर सब कुछ न्यौछावर करने को इसलिए तैयार है क्योंकि वह लाठी और कंबल उनके पूजनीय श्री कृष्ण के हैं और उन्हें पा लेना कवि के लिए बड़े ही सौभाग्य की बात है। इसके लिए वे तीनों लोगों का राज भी त्यागने और कांटेदार झाड़ियों पर सोने को भी तैयार है।

4. सखी ने गोपी से कृष्ण का कैसा रूप धारण करने का आग्रह किया था? अपने शब्दों में वर्णन कीजिए।

उत्तर:- कृष्ण ने सभी गोपियों का मन मोह लिया था और वे उनके लिए कोई भी स्वांग रचने को यह तैयार थी क्योंकि वे उनसे प्रेम करती थी। इसलिए सखी गोपी को श्रीकृष्ण की तरह ही सिर पर मोरपंख सजाने, गुंज की माला धारण करने, पीले वस्त्र पहनने व ग्वालों की तरह गायों के साथ घूमने का आग्रह करती है।

5. आपके विचार से कवि पशु, पक्षी और पहाड़ के रूप में श्री कृष्ण का सानिध्य क्यों प्राप्त करना चाहता है?

उत्तर:-  कवि कृष्ण के भक्त है और एक भक्त के लिए संसार में सबसे महत्वपूर्ण होते हैं उसके प्रभु और उनकी भक्ति। रसखान के लिए भी कृष्ण का सानिध्य प्राप्त करना बड़े सौभाग्य की बात है, चाहे वह उन्हें किसी भी रूप में मिले।

6. चौथे सवैये के अनुसार गोपियां अपने आप को क्यों विवश पाती है?

उत्तर:– चौथे सवैये के अनुसार गोपियां कृष्ण की बांसुरी की मधुर आवाज से मन मोहित हो जाती है और वे उसमें इतना मग्न हो जाती है कि सारी सुध-बुध खोकर बस उस का आनंद लेने लग जाती है। कृष्ण की बांसुरी से गोपियों को इतना सुखद अनुभव होता है कि वे चाहकर भी उससे दूर नहीं रह सकती और इस कारण वे खुद को विवश पाती हैं।




7. भाव स्पष्ट कीजिए-

(क). कोटिक ए कलधौत के धाम करील के कुंजन ऊपर वारौं।
(ख). माइ री वा मुख की मुस्कानि सम्हारी न जैहै, न जैहै, न जैहै।

उत्तर:- (क). इस पंक्ति मे कवि ने कहा है कि वे ब्रजभूमि में रहने के लिए कुछ भी करने को तैयार है, वे ब्रज की कांटेदार झाड़ियों को पाने के लिए सोने के सौ महल भी न्योछावर करने को तैयार है; जिससे उनका तात्पर्य है कि उनके लिए सांसारिक मोह-माया से ज्यादा महत्वपूर्ण है कृष्ण की भक्ति व उनका सानिध्य प्राप्त कर पाना।

(ख). इस कथन में गोपियां अपनी व्यथा बताती है कि वे सब कृष्ण से प्रेम करती है और जब कृष्ण बांसुरी बजाते हैं तो उन सब के मुख पर एक मधुर मुस्कान आ जाती है, जिससे लोगों को उनके प्रेम का पता चल सकता है। लेकिन फिर भी वे विवश है क्योंकि वे कृष्ण की बांसुरी से इतना मोहित हो जाती है कि खुद को रोक ही नहीं पाती।

8. ‘कालिंदी कूल कदंब की डारन’ में कौन-सा अलंकार है?

उत्तर:- प्रस्तुत पंक्ति में अनुप्रास अलंकार है, क्योंकि इसमें ‘क’ वर्ण की पुनरावृत्ति हुई है।

9. काव्य-सौंदर्य स्पष्ट कीजिए-

या मुरली मुरलीधर की अधरान धरी अधरा ने धरौंगी।

उत्तर:- काव्य सौंदर्य-

1. यमक अलंकार का प्रयोग हुआ है।
2. अनुप्रास अलंकार का प्रयोग किया गया है।
3. ब्रजभाषा में लिखा गया है।

NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kshitij Chapter 11 – रचना और अभिव्यक्ति

10. प्रस्तुत सवैयों में जिस प्रकार ब्रजभूमि के प्रति प्रेम अभिव्यक्त हुआ है, उसी तरह आप अपनी मातृभूमि के प्रति अपने मनोभावों को अभिव्यक्त कीजिए।

उत्तर:-  जैसे मां हमें जन्म देकर पालती है, अपने पास सुरक्षित रखती है, वैसे ही मातृभूमि भी हमें अपनी गोद में पालकर बड़ा करती है। हमें पैदा करने वाली मां हमारे लिए देवकी मां जैसी होती है और मातृभूमि हमारे लिए यशोदा मां जैसी होती है। मातृभूमि के लिए हमारा हृदय देशभक्ति से ओत-प्रोत है और समय आने पर हम अपने देश पर सब कुछ न्योछावर कर सकते हैं। हमारे देश व देशवासियों के हित के बारे में सोचना हमारा कर्तव्य है।

11. योगा शिक्षक की सहायता से कक्षा में आदर्श वाचन कीजिए साथ ही किन्हीं दो सहयोग को कंठस्थ कीजिए

उत्तर:- यह प्रश्न छात्र द्वारा किया जाएगा।

NCERT Solutions For Class 9 – Click here

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

1 thought on “NCERT Solutions for Class 9 Hindi Kshitij Chapter 11 – सवैये – रसखान”

Leave a Comment