Alankar in Hindi

अलंकार ( Alankar in Hindi)

अलंकार (Alankar in Hindi) – ‘अलंकार’ शब्द का शाब्दिक अर्थ है – आभूषण

→   अलंकार शब्द दो शब्दों के योग से बना है –

अलम् + कार
↓              ↓
शोभा + करने वाला




→   काव्य की शोभा को बढ़ाने वाले तत्व अलंकार कहलाते हैं |

→   “अलंक्रियते इति अलंकार”

जदपि सुजाति सुलक्षणी, सुबरन सरस सुवृत्त |
भूषण बिनु न बिराजही, कविता, वनिता मित्त ||

अलंकार के भेद ( Alankar ke bhed )

(1)  शब्दालंकार
(2)  अर्थालंकार
(3)  उभयालंकार

शब्दालंकार

जहाँ काव्य में शब्दों के माध्यम से चमत्कार उत्पन्न होता है, वहाँ शब्दालंकार होता है |
→   अनुप्रास, लाटानुप्रास, यमक, श्लेष, वक्रोक्ति, पुनरुक्ति-प्रकाश, वीप्सा आदि शब्दालंकार है |

जैसे → काली घटा का घमण्ड घटा |
→   काली घटा का घमण्ड कम हुआ |

अर्थालंकार

जहाँ काव्य में अर्थ के माध्यम से चमत्कार उत्पन्न किया जाता है, वहाँ अर्थालंकार होता हैं |
→   उपमा, रूपक, उत्प्रेक्षा, विभावना, असंगति, विरोधाभास, संदेह, भ्रान्तिमान आदि |

उभयालंकार

जहाँ काव्य में शब्द और अर्थ दोनों के माध्यम से चमत्कार उत्पन्न होता है वहाँ उभयालंकार होता हैं |




Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

12 thoughts on “Alankar in Hindi”

Leave a Comment