Pronoun in Hindi (Sarvanam)

(Pronoun in Hindi or Sarvanam ) →   सर्वनाम की उत्पत्ति दो शब्दों के मेल से हुई है → सर्व + नाम अर्थात् “सभी का नाम”

जैसे → 1. वेदांत एक परिश्रमी बालक है |
2. उसका विद्यालय उसके घर के पास ही है |




जैसे →  अध्यापक ने वेदांत से पूछा, “वेदांत आज देर से क्यों आए हो?

→   वेदांत ने उत्तर दिया, “आज वेदांत की बस छूट गई थी |

जैसे → आप, वह, कौन, तुम्हारा, कोई, कुछ, उसका, वह, यह आदि |

→   संज्ञा के स्थान पर प्रयुक्त होने वाले शब्दों को सर्वनाम कहते हैं |

सर्वनाम ( Pronoun in Hindi )

सर्वनाम के भेद ( Kinds of Pronoun in Hindi )

  1. पुरुषवाचक सर्वनाम ( Purushvachak Sarvanam )
  2. निश्चयवाचक सर्वनाम ( Nishchyavachak Sarvanam )
  3. अनिश्चयवाचक सर्वनाम ( Anishchyavachak Sarvanam )
  4. संबंधवाचक सर्वनाम ( Sambandhvachak Sarvanam )
  5. प्रश्नवाचक सर्वनाम ( Prashnvachak Sarvanam )
  6. निजवाचक सर्वनाम ( Nijvachak Sarvanam )

पुरुषवाचक सर्वनाम ( Purushvachak Sarvanam )

 

→   जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग वक्ता अपने लिए, श्रोता के लिए, तथा किसी अन्य के लिए करता है, उन्हें पुरुषवाचक सर्वनाम कहते हैं |

(क)  नाम
(ख)  मेल
(ग)  सभी का नाम
(घ)  संक्षिप्त

जैसे → मैं, हम, तू, तुम, आप, वे आदि |

पुरुषवाचक सर्वनाम के प्रकार

(1)  उत्तम पुरुषवाचक (मैं, हम)

(2)  मध्यम पुरुषवाचक (तू, तुम, आप)

(3)  अन्य पुरुषवाचक (वह, वे, यह, ये)

(1)  उत्तम पुरुषवाचक

→   जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग वक्ता अपने लिए करता है, उन्हें उत्तम पुरुषवाचक सर्वनाम कहते हैं |

→ मैं, हम, मेरा, हमारा, हमें आदि उत्तम पुरुषवाचक सर्वनाम हैं |

जैसे → 1.   मैं गाना सुनाऊँगा |
2. हम गाना सुनकर हँस पड़े |

(2) मध्यम पुरुषवाचक सर्वनाम

→   जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग वक्ता श्रोता के लिए करता है, उन्हें मध्यम पुरुषवाचक सर्वनाम कहते हैं |

→ तू, तुम, तुम्हें, तुझे, आप, आप लोग, आपकों आदि मध्यम पुरुषवाचक सर्वनाम हैं |

जैसे → 1.   तुम पढ़ाई कर लो |
2. आप कहाँ जा रहे हो ?
3. तू क्या कर रहा है |




(3) अन्य पुरुषवाचक सर्वनाम→

→   जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग वक्ता किसी अन्य व्यक्ति के लिए करता है, उसे अन्य पुरुषवाचक सर्वनाम कहते हैं |

→   यह, वह, वे, ये, उसे उन्हें, उनको, उन्होंने, वे लोग आदि अन्य पुरुषवाचक सर्वनाम है |

जैसे →    1.   वह कहाँ चला गया ?
2. वे मेरे मित्र हैं |
3. ये कब आए |

निश्चयवाचक सर्वनाम तथा अनिश्चयवाचक सर्वनाम

निश्चयवाचक सर्वनाम

→   जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग किसी निश्चित व्यक्ति, वस्तु या स्थान के लिए किया जाता है, उन्हें निश्चय वाचक सर्वनाम कहते हैं |

जैसे

  1. यह मेरा घर है |
  2. वह गुड़िया मेरी है |
  3. वह मेरी बहन है |
  4. यह हाथी है |

विशेष →   निश्चयवाचक सर्वनाम को संकेतवाचक सर्वनाम भी कहते हैं |

नोट →  “यह” तथा “वह” अन्य पुरुषवाचक तथा निश्चयवाचक सर्वनाम दोनों है |

जैसे → 1.   राधा मेरी बहन है, वह अलवर में रहती है | (अन्य पुरुषवाचक)
2. यह मेरी पुस्तक है, वह तुम्हारी पुस्तक है | (निश्चयवाचक सर्वनाम)

अनिश्चयवाचक सर्वनाम

→   जिन सर्वनाम शब्दों से किसी निश्चित व्यक्ति, वस्तु, या स्थान का बोध नहीं होता उन्हें, अनिश्चयवाचक सर्वनाम कहते हैं |

जैसे → 1.   दरवाजे पर कोई खड़ा है |
2. किसी ने दरवाजा खटखटाया है |

संबंधवाचक सर्वनाम, प्रश्नवाचक सर्वनाम, निजवाचक सर्वनाम

संबंधवाचक सर्वनाम

→   जो सर्वनाम शब्द वाक्य में आए दूसरे सर्वनाम शब्द से संबंध बताते हैं, उन्हें, संबंधवाचक सर्वनाम कहते हैं |

→    जैसा-वैसा, जो–वो, जो–सो आदि संबंधवाचक सर्वनाम शब्द है |

जैसे →    1.   जैसा करोगे, वैसा भरोगे |
2. जो मेहनत करेगा, वो सफल होगा |

प्रश्नवाचक सर्वनाम

→   जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग किसी वस्तु, व्यक्ति या स्थान के बारे में प्रश्न पूछने के लिए किया जाता है, उन्हें प्रश्नवाचक सर्वनाम कहते हैं |

जैसे →    1.   मोहन क्या पढ़ रहा है ?
2. बाहर कौन खड़ा है ?
3. आप कहाँ जा रहे हो ?




निजवाचक सर्वनाम

→   जिन सर्वनाम शब्दों का प्रयोग कर्ता के साथ अपनेपन का बोध कराने के लिए किया जाता है, उन्हें निजवाचक सर्वनाम कहते है |

जैसे →    1.   इस सवाल का हल अपने-आप निकालों |
2. वह खुद सामान लाएगा |
3. मैं अपने–आप चली जाऊँगी |

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

1 thought on “Pronoun in Hindi (Sarvanam)”

Leave a Comment