संज्ञा के भेद

संज्ञा – संज्ञा के भेद के अंतर्गत हम – संज्ञा की परिभाषा, संज्ञा के कुछ उद्धरण , संज्ञा के भेद – व्यक्तिवाचक संज्ञा, जातिवाचक संज्ञा, भाववाचक संज्ञा और भाववाचक संज्ञाओं की रचना के बारे में पड़ेगे |

संज्ञा की परिभाषा- किसी व्यक्ति वस्तु स्थान प्राणी और भाव आदि के नाम को संज्ञा कहते हैं ।
दिन निकल आया ।
पक्षी चहचहाने लगे ।
पिताजी उठकर घूमने चले गए।




संज्ञा के भेद ( Sangya ke bhed )

(1) व्यक्तिवाचक संज्ञा
(2) जातिवाचक संज्ञा
(3) भाववाचक संज्ञा

(1) व्यक्तिवाचक संज्ञा – संज्ञा के भेद

संज्ञा शब्दों से किसी विशेष व्यक्ति विशेष प्राणी विशेष स्थान और विशेष वस्तु आदि के नाम का पता चलता है, उन्हें व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते हैं।
जैसे- ताजमहल, राजा, दशरथ, नैनीताल, भागवत गीता, चेतक

(2) जातिवाचक संज्ञा – संज्ञा के भेद

वे संज्ञा शब्द जो किसी विशेष व्यक्ति या वस्तु के विषय में न बताकर संपूर्ण जाति का बोध कराएँ, उन्हें जातिवाचक संज्ञा कहते हैं।
जैसे – मछली, हाथी, नारी, चींटी, दुकान, गांव गली, पुस्तक, बर्तन, सब्जी आदि ।

(3) भाववाचक संज्ञा – संज्ञा के भेद

जिन संज्ञा शब्दों से किसी प्राणी या वस्तु की स्थिति भाव और दशा आदि का पता चलता है, उन्हें भाववाचक संज्ञा कहते हैं ।
जैसे- लंबाई, सुंदरता, बचपन, बुढापा, भाईचारा मित्रता, क्रोध, दया आदि ।

समूहवाचक संज्ञा

जिन संज्ञा शब्दों से किसी समूह या समुदाय का बोध हो, उन्हें समूहवाचक या समुदायवाचक संज्ञा कहते हैं।

जैसे – कक्षा में सभी विद्यार्थी पढ़ रहे हैं।
कवियों की सभा हो रही है ।

अन्य उदाहरण

मधुमक्खियों का झुंड,
कक्षा, भीड़, टोली, दल आदि।




भाववाचक संज्ञाओं की रचना

भाववाचक संज्ञा पांच प्रकार के शब्दों से बनती हैं-

  1. जातिवाचक संज्ञा से
  2. सर्वनाम से
  3. विशेषण से
  4. क्रिया से
  5. अव्यय से

(1) जातिवाचक संज्ञा से भाववाचक संज्ञा

दानव= दानव + ता = दानवता
नारी = नारी + त्व =  नारीत्व
बच्चा = बच्चा + पन = बचपन
जवान = जवान + ई = जवानी
मनुष्य= मनुष्य + ता=  मनुष्यता

(2) सर्वनाम से भाववाचक संज्ञा

अपना = अपना+ त्व = अपनत्व
अपना+पन= अपनापन

अहं = अहं + कार = अहंकार
मम = मम + ता = ममता
निज= निज + ता= निजता

(3) विशेषण से भाववाचक संज्ञा

कटु= कटु + ता = कटुता
गरम= गरम + आहट= गरमाहट
गरम  + ई = गरमी

वीर = वीर + ता = वीरता
योग्य = योग्य + ता = योग्यता

(4) क्रिया से भाव वाचक संज्ञा

क्रिया – सिलना
भाव वाचक संज्ञा – सिलाई

क्रिया – चढ़ना
भाव वाचक संज्ञा – चढ़ाई

(5) अव्यय से भाववाचक संज्ञा

अव्यय – दूर
भाववाचक संज्ञा – दूरी

अव्य य – निकट
भाव वाचक संज्ञा – निकटता




FAQs on Sangya in Hindi (संज्ञा – संज्ञा के भेद)

प्र.1.  अध्यापक पढ़ा रहे हैं | उक्त वाक्य में से संज्ञा शब्द छाँटिए –         

उत्तर = अध्यापक

प्र.2. ब्राह्.मण, पिता उक्त शब्दों से भाववाचक संज्ञा बनाइए –     

उत्तर = ब्राह्.मण = ब्राह्.मणत्व
पिता = पितृत्व

प्र.3.  एकाकी, कृत्रिम उक्त शब्दों से भाववाचक संज्ञा शब्द बनाइए –    

उत्तर = एकाकी = एकाकीपन
कृत्रिम = कृत्रिमता

प्र.4.  दुल्हन, हिरण उक्त शब्दों में संज्ञा का भेद बताइए –       

उत्तर = जातिवाचक संज्ञा

प्र.5.  लड़ाई, प्यार, हँसी उक्त शब्दों में संज्ञा का भेद बताइए –       

उत्तर = भाववाचक संज्ञा

प्र.6.  तीन किलो आटा दीजिए | उक्त वाक्य में रेखांकित शब्द में संज्ञा का भेद बताइए –        

उत्तर = द्रव्यवाचक संज्ञा

प्र.7.  भारतीय सेना शत्रु का डट कर सामना किया | उक्त वाक्य में रेखांकित शब्द ‘सेना’ में संज्ञा का भेद बताइए –           

उत्तर = समूहवाचक संज्ञा

Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

Leave a Comment