Visheshan ke bhed in Hindi

Visheshan ke bhed in Hindi – विशेषण के चार भेद होते हैं |

1.गुणवाचक विशेषण
2.संख्यावाचक विशेषण
3.परिणामवाचक विशेषण
4.सार्वनामिक विशेषण




1.गुणवाचक विशेषण

संज्ञा और सर्वनाम शब्दों के गुण, दोष, स्वाद, आकार, रंग और अवस्था आदि की विशेषता प्रकट करने वाले विशेषणों को गुणवाचक विशेषण कहते हैं।

जैसे- राधा सातवीं कक्षा में पढ़ती है।
मोहन का दूसरा भाई डॉक्टर है।

2.संख्यावाचक विशेषण के भेद

(क) निश्चित संख्यावाचक विशेषण
(ख) अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण

(क) निश्चित संख्यावाचक विशेषण

संज्ञा और सर्वनाम शब्दों की निश्चित संख्या प्रकट करने वाले विशेषणों को निश्चित संख्यावाचक विशेषण कहते हैं।

जैसे- पांचो  पुत्र वन की ओर गए।
दूसरी लड़की को पुरस्कार मिला था।

(ख) अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण

संज्ञा और सर्वनाम शब्दों की निश्चित संख्या का बोध न कराने वाले विशेषणों को अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण कहते हैं।

जैसे- कुछ छात्रों ने गृह -कार्य नहीं किया।
आज दफ्तर में काम कम है।

3.परिमाणवाचक  विशेषण

संज्ञा और सर्वनाम शब्दों की मात्रा और माप -तोल प्रकट करने वाले विशेषणों को परिमाणवाचक विशेषण कहते हैं।

जैसे- दाल में थोड़ा घी और डालो।
दो मीटर कपड़ा लाना।




परिमाणवाचक विशेषण के भेद

I.निश्चित परिमाणवाचक विशेषण
II.अनिश्चित परिमाणवाचक विशेषण

(क) निश्चित परिमाणवाचक विशेषण

संज्ञा और सर्वनाम शब्दों के निश्चित परिमाण का बोध कराने वाले विशेषण शब्दों को निश्चित परिमाणवाचक विशेषण कहते हैं।

जैसे – नीतू ने दो किलो आलू खरीदे।
नीलम आधा लीटर तेल लाई।

(ख) अनिश्चित परिमाणवाचक विशेषण

जिन विशेषण शब्दों से संज्ञा और सर्वनाम के निश्चित माप-तौल का पता नहीं चलता, उन्हें अनिश्चित परिमाणवाचक विशेषण कहते हैं।

जैसे- दाल में थोड़ा नमक और डालो।
दूध में अधिक चीनी पड़ गई।

4. सार्वनामिक विशेषण

संज्ञा की विशेषता प्रकट करने वाले सर्वनाम शब्दों को सार्वनामिक विशेषण कहते हैं।

इन्हें संकेतवाचक विशेषण भी कहते हैं।

जैसे- उस लड़की को पुरस्कार मिला।
वह घर नीलम का है।




Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

2 thoughts on “Visheshan ke bhed in Hindi”

Leave a Comment