Muhavare and Lokoktiyan

Muhavare and Lokoktiyan – Video Explanation

मुहावरे तथा लोकोक्ति (Muhavare and Lokoktiyan)

मुहावरा (Hindi Muhavare ) 

→ यह “अरबी” भाषा का शब्द है | जिसका हिंदी में अर्थ है – “अभ्यास”
→   अर्थात् जो वाक्यांश निरंतर अभ्यास में आने के कारण एक विशेष अर्थ में रूढ़ हो गये, वे मुहावरे कहलाये |
जैसे – चिकना घड़ा होना = कुछ असर न पड़ना
→  पेट में चूहे कूदना = भूख लगना




लोकोक्तिया ( Hindi Lokoktiya )

→      लोकोक्ति शब्द दो शब्दों के योग से बना है –
→       लोक + उक्ति
→      जिसका शाब्दिक अर्थ है –
लोगो के द्वारा कही गई उक्ति अर्थात् लोगो के अनुभव पर कहीं गई बातें लोकोक्ति कहलाती हैं |
→      इन्हें कहावत भी कहते है |
जैसे – अधजल गगरी छलकत जाये = अधूरी योग्यता वाले व्यक्ति अधिक दिखावा करते हैं |
→      न रहेगा बाँस न बाजेगी बाँसुरी = किसी चीज को जड़ से नष्ट कर देना

मुहावरे तथा लोकोक्ति में अंतर (Muhavare and Lokoktiyan me antr)

मुहावरा (Muhavara )

(1)  यह वाक्यांश होता है |
(2)  मुहावरे के अंत में “न” का प्रयोग किया जाता है |
(3)  इसमें लक्षण शब्द शक्ति होती हैं |

लोकोक्तियाँ (Lukoktiya)

(1)  ये पूर्व वाक्य होती है |
(2)  इनके अंत में ‘न’ का प्रयोग नहीं होता है |
(3)  इसमें लगभग व्यंजना शक्ति मिलती है |
(4)  अधिकतर लोकोक्तियों का संबंध प्राचीन लोक कथाओं से होता है |
जैसे – चिकना घड़ा होना = कुछ असर न पड़ना
→   पेट में चूहे कूदना = भूख लगना




Share on whatsapp
Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on email

Leave a Comment